Rajasthan Election: बीजेपी अध्यक्ष के गृह जिले में शुरू हुई बगावत, 33 साल बाद त्रिकोणीय मुकाबला

जयपुर के विद्याधर नगर सीट पर भाजपा में दीया कुमारी को एडजस्ट करने से शुरू हुई कहानी ने चित्तौड़गढ़ सीट पर ऐसा ट्विस्ट ला दिया कि यह सीट प्रदेश की चर्चित सीटों में शुमार हो गई है। विधायक चंद्रभान आक्या ने टिकट कटने पर भाजपा प्रदेश अध्यक्ष सीपी जोशी के गृह जिले में बगावत का ऐसा बिगुल बजाया कि पूरे प्रदेश में इसका शोर सुनाई दिया।
Rajasthan Election: बीजेपी अध्यक्ष के  गृह जिले में शुरू हुई बगावत, 33 साल बाद त्रिकोणीय मुकाबला
Rajasthan Election: बीजेपी अध्यक्ष के गृह जिले में शुरू हुई बगावत, 33 साल बाद त्रिकोणीय मुकाबला

जयपुर के विद्याधर नगर सीट पर भाजपा में दीया कुमारी को एडजस्ट करने से शुरू हुई कहानी ने चित्तौड़गढ़ सीट पर ऐसा ट्विस्ट ला दिया कि यह सीट प्रदेश की चर्चित सीटों में शुमार हो गई है।

विधायक चंद्रभान आक्या ने टिकट कटने पर भाजपा प्रदेश अध्यक्ष सीपी जोशी के गृह जिले में बगावत का ऐसा बिगुल बजाया कि पूरे प्रदेश में इसका शोर सुनाई दे रहा है।

नरपत सिंह राजवी को पुरानी सीट चित्तौड़ पर भेजा गया, इसके लिए दो बार जीते आक्या का टिकट काटना पड़ा है।

आक्या ने सीपी जोशी पर लगाया आरोप

प्रदेशाध्यक्ष सीपी जोशी चित्तौड़गढ़ से सांसद हैं। चंद्रभान आक्या से सियासी अदावत जगजाहिर है। परिवर्तन यात्रा में यहां प्रत्याशी बदलने के होर्डिंग लगे थे।

चर्चा थी कि आक्या का टिकट काटा जा सकता है, लेकिन पार्टी सर्वे रिपोर्ट में आक्या मजबूत थे। राजवी को विद्याधरनगर की जगह चित्तौड़गढ़ से टिकट दिया गया,

इसी कहानी से जोड़कर सियासी मायने निकाले गए। आक्या ने खुले तैर पर सीपी जोशी पर आरोप लगाए। भाजपा के बागी चंद्रभान ने राजवी के बाहरी होने का मुद्दा बनाया है।

राजवी भी आक्या को बाहरी बता रहे हैं। जाड़ावत विकास कार्य और कांग्रेस की योजनाओं के सहारे मैदान में है। जाड़ावत के भाषणों में राजवी पर कम और आक्या पर ज्यादा हमला बोला गया है।

बता दें कि राजस्थान विधानसभा का चुनाव 25 नवंबर को होने जा रहा है। बीजेपी ने विद्याधर नगर से दिया कुमारी को टिकट दिया है। हालांकि अभी तक राजस्थान से सीएम का चेहरा घोषित नहीं किया गया हैै।

Rajasthan Election: बीजेपी अध्यक्ष के  गृह जिले में शुरू हुई बगावत, 33 साल बाद त्रिकोणीय मुकाबला
Rajasthan Election 2023: राजस्थान में बढ़ी दल-बदल की राजनीति, इन सीटों पर पड़ेगा असर

Related Stories

No stories found.
logo
Since independence
hindi.sinceindependence.com