अमरनाथ यात्रा 2022: ड्रोन की सुरक्षा में होंगे बाबा के दर्शन, इस दिन खुलेंगे अमरनाथ मंदिर के द्वार

इस साल श्रीनगर हवाई अड्डे के पास बडगाम से पंचतरणी तक एक नया मार्ग जुड़ जाएगा। अधिकारी ने कहा कि अमरनाथ यात्रा दो साल के अंतराल के बाद शुरू होने जा रही है, इसलिए तीर्थयात्रियों की भारी भीड़ को देखते हुए केंद्र सरकार ने श्रीनगर से हेलीकॉप्टर सेवा शुरू करने का फैसला किया है
अमरनाथ यात्रा 2022: ड्रोन की सुरक्षा में होंगे बाबा के दर्शन, इस दिन खुलेंगे अमरनाथ मंदिर के द्वार

अमरनाथ मंदिर जम्मू और कश्मीर में हिंदुओं का एक प्रमुख तीर्थस्थल है। यहां हर साल लाखों की संख्या में श्रद्धालु भगवान शिव के दर्शन के लिए आते हैं। ऐसे में इस साल केंद्र सरकार ने श्रद्धालुओं की सुविधा के लिए हेलीकॉप्टर सेवा शुरू की है। इस साल अमरनाथ यात्रा 30 जून से शुरू होकर 11 अगस्त को समाप्त होगी। अब अमरनाथ यात्रा पर जाने वाले तीर्थयात्री श्रीनगर से सीधे अमरनाथ के लिए हेलीकॉप्टर सेवा का लाभ उठा सकेंगे।

हेलीकॉप्टर से होंगे दर्शन
सूत्रों ने एएनआई को बताया कि गृह मंत्रालय (एमएचए) ने जम्मू-कश्मीर प्रशासन को श्रीनगर से सीधे पंचतरणी तक तीर्थयात्रियों के लिए हेलीकॉप्टर सेवा शुरू करने का निर्देश दिया है, जो अब तक 3,500 मीटर की ऊंचाई पर अंतिम पड़ाव है। यह हेलीकॉप्टर सेवा पहलगाम और बालटाल से पंचतरणी के लिए उपलब्ध है, जहां से छह किलोमीटर की दूरी पर पवित्र गुफा है। हर साल लाखों श्रद्धालु बाबा अमरनाथ के दर्शन करने आते हैं, इसलिए भीड़ को कम करने के लिए यह फैसला लिया गया है।

तीर्थयात्री ट्रेक, खच्चर या हेलीकॉप्टर से पहुंच सकते हैं

बता दें कि अब तक यह हेलीकॉप्टर सेवा बालटाल और पहलगाम से अमरनाथ जाने के लिए उपलब्ध थी। बालटाल और पहलगाम दोनों मार्ग अमरनाथ मंदिर से 61 किलोमीटर की दूरी पर हैं। अमरनाथ मंदिर तक पहुंचने के लिए बालटाल सबसे छोटा रास्ता है। बालटाल से पवित्र गुफा तक पहुंचने की दूरी 15 किलोमीटर है, जिसके लिए तीर्थयात्री पैदल, हेलीकॉप्टर या खच्चर से जा सकते हैं। जबकि अमरनाथ मंदिर तक पहुंचने का लंबा रास्ता पहलगाम है। पहलगाम से अमरनाथ मंदिर की दूरी 46 किलोमीटर है। जिसके लिए तीर्थयात्री ट्रेक, खच्चर या हेलीकॉप्टर से पहुंच सकते हैं।

श्रीनगर से पंचतरणी के लिए हेलीकॉप्टर सेवा शुरू होने से निश्चित रूप से उन तीर्थयात्रियों का समय कम होगा जो इस सुविधा का लाभ उठाने के लिए पहलगाम और बालटाल जाने से बचना चाहते हैं।
अधिकारी
दो साल बाद फिर शुरू हो रही है अमरनाथ यात्रा
इस कदम से इस साल श्रीनगर हवाई अड्डे के पास बडगाम से पंचतरणी तक एक नया मार्ग जुड़ जाएगा। अधिकारी ने कहा कि अमरनाथ यात्रा दो साल के अंतराल के बाद शुरू होने जा रही है, इसलिए तीर्थयात्रियों की भारी भीड़ को देखते हुए केंद्र सरकार ने श्रीनगर से हेलीकॉप्टर सेवा शुरू करने का फैसला किया है।

ड्रोन की सुरक्षा में होंगे बाबा के दर्शन

इसके साथ ही यात्रा के दौरान तीर्थयात्रियों की सुरक्षा का भी कड़ा इंतजार किया जा रहा है। सूत्रों के मुताबिक तीर्थयात्रा के दौरान तीर्थयात्रियों की सुरक्षा के लिए पहलगाम और बालटाल दोनों मार्गों पर 50 से अधिक ड्रोन का इस्तेमाल किया जाएगा।

अमरनाथ यात्रा 2022: ड्रोन की सुरक्षा में होंगे बाबा के दर्शन, इस दिन खुलेंगे अमरनाथ मंदिर के द्वार
रामनामी समाज:धर्म के ठेकेदारों ने मंदिर में घुसने से रोका,समाज ने ठुकराया तो इन लोगों ने उनका भगवान ही अपना लिया, अब इनके रोम रोम में राम राम
Since independence
hindi.sinceindependence.com