मासिक जन्माष्टमी इस बार खास, इस विधि से करें बाल गोपाल की पूजा और व्रत

मासिक जन्माष्टमी के दिन आप भगवान कृष्ण का उपवास और उनकी पूजा करके उनका आशीर्वाद प्राप्त कर सकते हैं। उनकी कृपा से पुत्र की प्राप्ति होती है और मोक्ष की भी प्राप्ति होती है।
मासिक जन्माष्टमी इस बार खास, इस विधि से करें बाल गोपाल की पूजा और व्रत

मासिक जन्माष्टमी व्रत हर महीने के कृष्ण पक्ष की अष्टमी तिथि को रखा जाता है। इस दिन विधि विधान से भगवान कृष्ण की पूजा की जाती है। आषाढ़ मास का मासिक जन्माष्टमी व्रत सोमवार, 20 जून को है। इस दिन कालाष्टमी का व्रत भी रखा जाता है। मासिक जन्माष्टमी के अवसर पर लोग संतान प्राप्ति के लिए बाल गोपाल की पूजा भी करते हैं। निःसंतान दंपत्ति मासिक जन्माष्टमी व्रत का नियमित रूप से लाभ उठा सकते हैं।

मासिक जन्माष्टमी 2022 तिथि
पंचांग के अनुसार आषाढ़ मास के कृष्ण पक्ष की अष्टमी तिथि 20 जून सोमवार को रात्रि 09:01 बजे से प्रारंभ होगी। यह तिथि अगले दिन मंगलवार 21 जून को रात्रि 08.30 बजे तक रहेगी । जन्माष्टमी के लिए रात्रि प्रहर का मुहूर्त अष्टमी तिथि को मान्य होता है। ऐसे में 20 जून की रात मुहूर्त है, इसलिए मासिक जन्माष्टमी का व्रत 20 जून को रखा जाएगा।
कैसे करें पूजा
व्रत के दिन सुबह जल्दी उठकर स्नान आदि से निवृत्त होकर घर के मंदिर की सफाई करनी चाहिए। भगवान कृष्ण की मूर्ति के सामने दीपक जलाएं। और सभी देवताओं को जलाभिषेक करें। इस दिन भगवान कृष्ण के बाल रूप यानी लड्डू गोपाल की पूजा की जाती है। लड्डू गोपाल को मिश्री और सूखे मेवे चढ़ाएं। अंत में आरती कर पूजा समाप्त करें। साथ ही पूजा में हुई गलती के लिए माफी मांगें।

भगवान कृष्ण की पूजा के लिए शुभ मुहूर्त

20 जून को मासिक जन्माष्टमी का शुभ मुहूर्त प्रातः 12:03 से दोपहर 12:43 बजे तक है। इस दिन आपको भगवान कृष्ण की पूजा के लिए 40 मिनट का शुभ मुहूर्त मिल रहा है। मासिक जन्माष्टमी के दिन सुबह से 08.28 बजे तक प्रीति योग है, उसके बाद आयुष्मान योग शुरू होगा। ऐसे में आयुष्मान योग में मासिक जन्माष्टमी मनाई जाएगी।

जन्माष्टमी के दिन का शुभ मुहूर्त
मासिक जन्माष्टमी के दिन का शुभ मुहूर्त रात 11:55 बजे से दोपहर 12:51 बजे तक है। इस मुहूर्त में आप कोई भी शुभ कार्य कर सकते हैं। राहुकाल प्रातः 07:08 से प्रातः 08:53 तक है। मासिक जन्माष्टमी के समय राहुकाल नहीं होगा।

मासिक जन्माष्टमी का महत्व

मासिक जन्माष्टमी के दिन आप भगवान कृष्ण का उपवास और उनकी पूजा करके उनका आशीर्वाद प्राप्त कर सकते हैं। उनकी कृपा से पुत्र की प्राप्ति होती है और मोक्ष की भी प्राप्ति होती है।

मासिक जन्माष्टमी इस बार खास, इस विधि से करें बाल गोपाल की पूजा और व्रत
आ रहा है आस्था का महीना सावन, खास व्रत विधि से करें भगवान शिव को प्रसन्न, बम भोले करेंगे हर मनोकामना पूर्ण

Related Stories

No stories found.
Since independence
hindi.sinceindependence.com