सुख समृद्धि बनाए रखने के लिए शनिवार के दिन करें ये 5 उपाय

सप्ताह के सात दिनों में से शनिवार शनि देव को समर्पित है। शनि देव को न्याय का देवता कहा जाता है। धार्मिक और ज्योतिष शास्त्र के अनुसार शनि देव कर्म करने वाले को वैसा ही फल देते हैं
सुख समृद्धि बनाए रखने के लिए शनिवार के दिन करें ये 5 उपाय

हिंदू धर्म में हर देवता की पूजा और उन्हें प्रसन्न करने के कई नियम बताए गए हैं। सप्ताह के सात दिनों में से शनिवार शनि देव को समर्पित है। शनि देव को न्याय का देवता कहा जाता है। धार्मिक और ज्योतिष शास्त्र के अनुसार शनि देव कर्म करने वाले को वैसा ही फल देते हैं अर्थात यदि कोई व्यक्ति बुरे कर्मों में लिप्त है तो शनि देव उसे दंड देंगे। वहीं अगर किसी व्यक्ति के अच्छे कर्म होते हैं तो शनि देव उसे शुभ फल और आशीर्वाद देते हैं। ज्योतिष शास्त्र में शनि देव को प्रसन्न करने के कई उपाय बताए गए हैं। क्या हैं वो उपाय, आइए जानते हैं

व्यापार के लिए उपाय
अगर किसी व्यक्ति को व्यापार में लगातार घाटा हो रहा है या कोर्ट-कचहरी के मामलों से परेशान है तो शनिवार के दिन 11 पीपल के पत्तों की माला बनाकर शनि मंदिर में चढ़ाएं। इससे आपको फायदा होगा। ध्यान रहे कि माला चढ़ाते समय ‘ओम श्रीं ह्रीं शं शनैश्चराय नम:’मंत्र का जाप करें।

कच्चे सूत को पीपल के पेड़ में लपेटें

शनिदेव को प्रसन्न करने के लिए शनिवार के दिन कच्चे सूत को पीपल के पेड़ में 7 बार लपेटकर मन में शनिदेव का ध्यान करें।

दाम्पत्य जीवन में खुशियाँ लाने के उपाय

दांपत्य जीवन में सुख शांति बनाए रखने के लिए हर शनिवार को कुछ काले तिल लेकर पीपल के पेड़ पर चढ़ाएं। इसके अलावा पीपल के पेड़ की जड़ में जल चढ़ाएं। इस उपाय से पति-पत्नी के रिश्ते मधुर होंगे।

नौकरी के लिए समाधान

यदि आप लंबे समय से नौकरी की तलाश में हैं और सफलता नहीं मिल रही है तो शनिवार के दिन एक कोयला लेकर बहते पानी में फेंक दें, लाभ होगा।

घर में सुख-समृद्धि के उपाय

यदि आप चाहते हैं कि आपके घर में सुख-समृद्धि और सुख बना रहे तो इसके लिए पुष्प नक्षत्र के एक फूलदान में जल लेकर उसमें थोड़ी चीनी मिलाकर पीपल के पेड़ की जड़ में अर्पित कर दें।

सुख समृद्धि बनाए रखने के लिए शनिवार के दिन करें ये 5 उपाय
क्या आप जानते है भगवान शंकर शरीर पर बाघ की खाल क्यों करते हैं धारण?

Related Stories

No stories found.
Since independence
hindi.sinceindependence.com