बीजेपी छोड़कर तृणमूल कांग्रेस का दामन थामने वाले बाबुल सुप्रियो ने लोकसभा की सदस्यता से दिया इस्तीफा, पीएम मोदी को लेकर कही ये बात

भाजपा के पूर्व नेता बाबुल सुप्रियो ने मंगलवार को औपचारिक रूप से लोकसभा की सदस्यता से इस्तीफा दे दिया। बाबुल सुप्रियो एक महीने पहले बीजेपी छोड़कर तृणमूल कांग्रेस में शामिल हो गए थे। सुप्रियो ने उन पर विश्वास जताने के लिए पूर्व पार्टी भाजपा को धन्यवाद दिया।
बीजेपी छोड़कर तृणमूल कांग्रेस का दामन थामने वाले बाबुल सुप्रियो ने लोकसभा की सदस्यता से दिया इस्तीफा, पीएम मोदी को लेकर कही ये बात

भाजपा के पूर्व नेता बाबुल सुप्रियो ने मंगलवार को औपचारिक रूप से लोकसभा की सदस्यता से इस्तीफा दे दिया। बाबुल सुप्रियो एक महीने पहले बीजेपी छोड़कर तृणमूल कांग्रेस में शामिल हो गए थे। सुप्रियो ने उन पर विश्वास जताने के लिए पूर्व पार्टी भाजपा को धन्यवाद दिया।

भाजपा के पूर्व नेता बाबुल सुप्रियो ने औपचारिक रूप से लोकसभा की सदस्यता से इस्तीफा दे दिया

लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला से मिलने के बाद इस्तीफा देने के बाद

बाबुल सुप्रियो ने कहा, "मेरा दिल भारी है क्योंकि मैंने अपने

राजनीतिक करियर की शुरुआत बीजेपी से की थी. मैं प्रधानमंत्री,

पार्टी अध्यक्ष और अमित शाह को धन्यवाद देता हूं.

उन्होंने मुझ पर विश्वास दिखाया." उन्होंने कहा, "मैंने राजनीति को पूरी तरह छोड़ दिया था।

मैंने सोचा कि अगर मैं पार्टी का हिस्सा नहीं हूं तो मुझे सीट नहीं रखनी चाहिए।"

बाबुल सुप्रियो ने कई बार कहा था कि वह अब उस पार्टी के सदस्य नहीं हैं जिससे उन्होंने यह सीट जीती है, इसलिए वह सांसद नहीं रहना चाहते हैं

यह घटनाक्रम ऐसे समय में आया है जब पश्चिम बंगाल के आसनसोल से दो बार के सांसद ने तृणमूल कांग्रेस में शामिल होने के दो दिन बाद 20 सितंबर को लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला को पत्र लिखकर समय मांगा था ताकि वह सदन से औपचारिक रूप से इस्तीफा दे सकें। बाबुल सुप्रियो ने कई बार कहा था कि वह अब उस पार्टी के सदस्य नहीं हैं जिससे उन्होंने यह सीट जीती है, इसलिए वह सांसद नहीं रहना चाहते हैं।

बाबुल सुप्रियो पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के नेतृत्व वाली तृणमूल कांग्रेस में शामिल हुए

गौरतलब है कि साल 2014 से बीजेपी के साथ अपने राजनीतिक करियर की शुरुआत करने वाले बाबुल सुप्रियो 18 सितंबर को पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के नेतृत्व वाली तृणमूल कांग्रेस में शामिल हुए थे. टीएससी में शामिल होते हुए उन्होंने कहा- "मुझे एक बड़ा मौका दिया गया है। जब मैं टीएमसी में शामिल हुआ, तो आसनसोल सीट से सांसद बने रहने का कोई मतलब नहीं है। मैंने आसनसोल की वजह से राजनीति में कदम रखा। जहां तक हो सकेगा, मैं इसे अपने संसदीय क्षेत्र के लिए करूंगा।

इससे पहले आसनसोल से दो बार सांसद रहे बाबुल सुप्रियो को इसी साल सात जुलाई को हुए कैबिनेट फेरबदल में कैबिनेट से हटा दिया गया था. वे वन, पर्यावरण राज्य मंत्री थे। इसके बाद उन्होंने एक फेसबुक पोस्ट के जरिए राजनीति से संन्यास की घोषणा की। हालांकि बाद में उन्होंने कहा कि वह राजनीति में बने रहेंगे लेकिन किसी अन्य पार्टी में शामिल नहीं होंगे।

Related Stories

No stories found.
Since independence
hindi.sinceindependence.com