137वें स्थापना दिवस पर कांग्रेस का झंडा गिरा: सोनिया के पार्टी मुख्यालय में Flag Hoisting में डोर खींचते ही झंडा हाथ में आया

कांग्रेस के 137वें स्थापना दिवस के मौके पर सोनिया गांधी दिल्ली स्थित पार्टी कार्यालय पहुंची थीं। सोनिया ने जब पार्टी के झंडे की डोरी खींची तो उस समय वहां पर एक कार्यकर्ता भी मौजूद था। उन्होंने झंडा फहराकर सोनिया की सहायता करने का प्रयास किया, लेकिन झंडा नीचे ही गिर गया।
137वें स्थापना दिवस पर कांग्रेस का झंडा गिरा: सोनिया के पार्टी मुख्यालय  में Flag Hoisting में डोर खींचते ही झंडा हाथ में आया

सोनिया ने जब पार्टी के झंडे की डोरी खींची तो झंडा हाथ में आ गया।

कांग्रेस के मंगलवार को स्थापना दिवस पर पार्टी की अंतरिम अध्यक्ष सोनिया गांधी के साथ पार्टी स्तर पर शर्मसार करने वाली घटना घटी। दरअसल सोनिया गांधी पार्टी का झंडा फहराने के लिए पार्टी मुख्यालय में पहुंची, इस दौरान जैसे ही उन्होंने झंडे की डोरी खींची, झंडा उनके हाथों में आ गिरा। फिर जैसे तेस झंडा हाथ में लेकर ही खड़े होना पड़ा।

सार्वजनिक तौर पर इस लापरवाही से वहां मौजूद सभी कांग्रेसी हैरान रह गए
कांग्रेस के 137वें स्थापना दिवस के मौके पर सोनिया गांधी दिल्ली स्थित पार्टी कार्यालय पहुंची थीं। सोनिया ने जब पार्टी के झंडे की डोरी खींची तो उस समय वहां पर एक कार्यकर्ता भी मौजूद था। उन्होंने झंडा फहराकर सोनिया की सहायता करने का प्रयास किया, लेकिन झंडा नीचे ही गिर गया। इस सार्वजनिक तौर पर इस लापरवाही से वहां मौजूद सभी कांग्रेसी हैरान रह गए। इसके बाद एक महिला कार्यकर्ता दौड़ती हुई आई और उसने मदद की कोशिश की, लेकिन तब तक झंडा हाथों में आ चुका था।

राहुल गांधी ने कहा पार्टी पर गर्व है

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने पार्टी के स्थापना दिवस के अवसर पर शुभकामनाएं दीं। राहुल गांधी ने इस मौके पर ट्वीट किया और कहा, 'हम कांग्रेस हैं - वह पार्टी जिसने हमारे देश में लोकतंत्र की स्थापना की और हमें इस विरासत पर गर्व है।'

सोनिया कहीं भी विचलित नहीं हुई

खास बात ये है कि इस पूरे घटनाक्रम के दौरान सोनिया कहीं भी विचलित नहीं हुई। उनका रिएक्शन बेहद शांत था। लेकन सार्वजनिक स्तर पर इस तरह की लापरवाहपूर्ण घटना होना कहीं न कहीं पार्टी की साख को नहीं गिराएगा। ऐसा अब सत्ता के गलियारों से बातें निकल कर आ रही हैं।

गंगा-जमुनी संस्कृति को मिटाने का प्रयास किया जा रहा सोनिया

स्थापना दिवस के दौरान सोनिया गांधी ने कहा कि हमारी विरासत गंगा-जमुनी संस्कृति को मिटाने का प्रयास किया जा रहा है। देश का आम नागरिक अपने आप को असुरक्षित महसूस कर रहा है. लोकतंत्र और संविधान को दरकिनार किया जा रहा है, ऐसे समय में कांग्रेस चुप नहीं रह सकती।

<div class="paragraphs"><p>सोनिया ने जब पार्टी के झंडे की डोरी खींची तो झंडा हाथ में आ गया।</p></div>
घर में अकूत काला धन‚ फिर भी चप्पलों में पहुंच जाते थे शादियों में, जानिए उस इत्र व्यापारी की कहानी जिसके इत्र से ज्यादा खुशबू देशभर में 257 करोड़ के नोटों की फैली

Related Stories

No stories found.
Since independence
hindi.sinceindependence.com