करौली हिंसा : पुलिस प्रशासन के द्वारा भाजपा की न्याय यात्रा रोकने के बाद ट्विटर पर वसुंधरा राजे का सतीश पूनिया को मिला समर्थन,तो पूनिया ने ट्वीट कर कहा "हम सब साथ है"

करीब एक घंटे तक नेता सड़क पर धरने पर बैठ गए। दोपहर करीब पौने 2 बजे पुलिस ने नेताओं को हिरासत में ले लिया।
करौली हिंसा : पुलिस प्रशासन के द्वारा भाजपा की न्याय यात्रा रोकने के बाद ट्विटर पर वसुंधरा राजे का सतीश पूनिया को मिला समर्थन,तो पूनिया ने ट्वीट कर कहा "हम सब साथ है"
राजे के ट्वीट का रिप्लाई करते हुए पूनिया ने कहा की "हम सब साथ है"

राजस्थान में बीजेपी, करौली हिंसा को लेकर लगातार प्रदर्शन,सोशल मीडिया पर वॉर से लेकर हर तरह से सरकार को घेरने का प्रयास किया जा रहा है। गौरतलब है की राजस्थान की पूर्व मुख़्यमंत्री वसुंधरा राजे ने भी करोली का दौरा किया था और गहलोत सरकार पर निशाना साधते हुए कहा की करौली में कांग्रेस ने आग लगाई है। तुष्टिकरण की राजनीति के कारण जला है करौली, हिंसा के इस बयान के बाद कल न्याय यात्रा में हुई धक्का -मुक्की को लेकर राजे ने फिर ट्वीट करते हुए कहा #Karauli में हुई BJYMके राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री Tejasvi_Surya तथा प्रदेशाध्यक्ष श्री DrSatishPoonia जी की गिरफ्तारी निंदनीय है! राजे के इस ट्वीट का रिप्लाई करते हुए पूनिया ने कहा की "हम सब साथ है"

हम सब साथ है
हम सब साथ है

करौली में भाजपा कार्यकर्ताओं ने पूनिया और तेजस्वी सूर्या को रोकने पर हंगामा कर दिया। जिला बार्डर के सलेमपुर के पास ही पुलिस ने इन्हें रोक दिया था। पुलिस ने कुछ लोगों को ही करौली जाने की बात कही थी, लेकिन नेता सभी कार्यकर्ताओं को साथ ले जाने पर अड़ गए। करीब एक घंटे तक नेता सड़क पर धरने पर बैठ गए। दोपहर करीब पौने 2 बजे पुलिस ने नेताओं को हिरासत में ले लिया।

कांग्रेस सरकार तुष्टिकरण की राजनीति कर रही है जिसे बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।
कांग्रेस सरकार तुष्टिकरण की राजनीति कर रही है जिसे बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।

करौली-दौसा जिला बार्डर सहित मार्गों पर तैनात रहे 700 से ज्यादा जवान‎

पूनियां ने कहा-कांग्रेस तुष्टिकरण की राजनीति कर रही : काफिले को रोके जाने के दौरान काफी देर तक भाजपा नेता सड़क पर ही धरने पर बैठ गए। सतीश पूनिया ने बताया कि करौली में यात्रा के दौरान विशेष समुदाय के लोगों ने रैली पर पथराव किया। अशोक गहलोत सरकार दोषियों के खिलाफ कार्रवाई नहीं कर रही है। कांग्रेस सरकार तुष्टिकरण की राजनीति कर रही है जिसे बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। जब तक उन्हें करौली जाने की अनुमति नहीं दी जाएगी वे सड़क पर ही धरने पर बैठे रहेंगे।

राजे के ट्वीट का रिप्लाई करते हुए पूनिया ने कहा की "हम सब साथ है"
CM Ashok Gehlot का बड़ा ऐलान, नहीं होगी RAS मेन्स परीक्षा स्थगित, अभ्यर्थियों की मांग के बाद भी नहीं बदला फैसला

Related Stories

No stories found.