प्रियंका गाँधी को टिकिट भेजने वाले बीजेपी नेता जितेंद्र गोठवाल को पुलिस ने किया गिरफ्तार

अधिकारियों के मुताबिक, गोठवाल पर डॉक्टर दंपति के खिलाफ प्रदर्शनकारियों को भड़काने का आरोप लगाया गया है। उन पर अस्पताल प्रबंधन को ब्लैकमेल करने समेत गंभीर आरोप भी लगे हैं।
प्रियंका गाँधी को टिकिट भेजने वाले बीजेपी नेता जितेंद्र गोठवाल को पुलिस ने किया गिरफ्तार

राजस्थान में डॉ. की आत्महत्या मामले में कई प्रतिक्रिया आ रही है। गौरतलब है की आत्महत्या मामले में पूरे देश के डॉ. ने विरोध करते हुए अपने कार्य का बहिष्कार किया है अस्पतालों में डॉक्टर्स का तीसरे दिन भी कार्य बहिष्कार जारी है मरीजों की बढ़ी परेशान। वही

राजस्थान पुलिस ने भाजपा के पूर्व विधायक जितेंद्र गोठवाल को गिरफ्तार किया है । गोठवाल भाजपा के राज्य सचिव हैं। वह हाल ही में कांग्रेस नेता प्रियंका गांधी को ट्रेन का टिकट भेजने के लिए चर्चा में थे। उन्होंने प्रियंका को 'लड़की हूं लड़ सकती हूं' नारे की याद दिलाते हुए एक नाबालिग के साथ कथित सामूहिक दुष्कर्म के संदर्भ में जल्द से जल्द राजस्थान का दौरा करने के लिए कहा था। इस मामले में कांग्रेस विधायक के बेटे और उनके चार दोस्त कथित तौर पर शामिल थे।

गोठवाल का नाम दौसा जिले में डॉक्टर अर्चना शर्मा की आत्महत्या से जुड़ गई है। डॉक्टर अर्चना और उनके पति द्वारा संचालित एक निजी अस्पताल में सोमवार रात एक गर्भवती महिला की मौत के लिए मामला दर्ज किया गया था। पुलिस के अनुसार, डॉक्टर अर्चना मंगलवार को अपने घर में मृत पाई गईं। उनका शव पंखे से लटका पाया गया।

अर्चना के पति सुनीत ने मीडिया को बताया कि मामले का राजनीतिकरण किया जा रहा है।उन्होंने शिवशंकर नाम के एक स्थानीय नेता का जिक्र करते हुए कहा कि राजनेता ऐसे लोगों को सुरक्षा देते हैं।
अर्चना के पति सुनीत ने मीडिया को बताया कि मामले का राजनीतिकरण किया जा रहा है।उन्होंने शिवशंकर नाम के एक स्थानीय नेता का जिक्र करते हुए कहा कि राजनेता ऐसे लोगों को सुरक्षा देते हैं।

गोठवाल ने कहा कि प्रियंका गांधी को ट्रेन का टिकट भेजने के कारण उन्हें फंसाया जा रहा है।

अधिकारियों के मुताबिक, गोठवाल पर डॉक्टर दंपति के खिलाफ प्रदर्शनकारियों को भड़काने का आरोप लगाया गया है। उन पर अस्पताल प्रबंधन को ब्लैकमेल करने समेत गंभीर आरोप भी लगे हैं।

इस बीच सोमवार को मरने वाली गर्भवती महिला के पति ने कहा कि उसने अस्पताल के खिलाफ कोई शिकायत दर्ज नहीं कराई है। उन्होंने कहा, "मुझे नहीं पता कि सादे कागज पर मेरे हस्ताक्षर किसने किए हैं।"

अर्चना के पति सुनीत ने मीडिया को बताया कि मामले का राजनीतिकरण किया जा रहा है।उन्होंने शिवशंकर नाम के एक स्थानीय नेता का जिक्र करते हुए कहा कि राजनेता ऐसे लोगों को सुरक्षा देते हैं।

प्रियंका गाँधी को टिकिट भेजने वाले बीजेपी नेता जितेंद्र गोठवाल को पुलिस ने किया गिरफ्तार
CM Ashok Gehlot का बड़ा ऐलान, नहीं होगी RAS मेन्स परीक्षा स्थगित, अभ्यर्थियों की मांग के बाद भी नहीं बदला फैसला

Related Stories

No stories found.