Himachal Election 2022: कांग्रेस का घोषणाओं का पिटारा...मोदी का जवाब करारा, बोले- 'झूठे वादे-झूठी गारंटी'

हिमाचल प्रदेश चुनाव के लिए शनिवार को कांग्रेस ने जहां अपने 10 बड़े वादों का मेनिफेस्टो जारी किया, वहीं प्रधानमंत्री मोदी ने कांग्रेस के तमाम वादों पर विपक्ष को आड़े हाथ लेते हुए उन्हें 'झूठे वादे-झूठी गारंटी' करार दिया। अपनी चुनाव रैली में मोदी ने कांग्रेस की कथनी और करनी में फर्क बताते हुए जमकर हमला बोला।
Himachal Election 2022: कांग्रेस का घोषणाओं का पिटारा...मोदी का जवाब करारा, बोले- 'झूठे वादे-झूठी गारंटी'

हिमाचल प्रदेश चुनाव के लिए कांग्रेस ने शनिवार को अपना घोषणा पत्र जारी कर कई लोक लुभावन वादे कर डाले। उधर, शनिवार को ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हिमाचल में 'विजय संकल्प रैली' को संबोधित कर विपक्ष पर जमकर हमला बोला और कांग्रेस के चुनाव घोषणा पत्र पर तंज कसते हुए उन्होंने कहा कि कांग्रेस के लिए सरकार में आना, सरकार में रहना, राज-पाट चलाने जैसा ही रहा है।

मोदी ने कहा कि हिमाचल में, पहाड़ी राज्यों में तो कांग्रेस दशकों तक तरसाओ, लटकाओ-भटकाओ की नीति पर चली है। झूठे वादे करना, झूठी गारंटी देना, कांग्रेस की पुरानी तरकीब रही है। किसानों को कर्जमाफी के नाम पर कांग्रेस किस तरह झूठ बोलती आ रही है, इसका भी गवाह पूरा देश रहा है।

PM मोदी ने हिमाचल की रैली में देश को स्वतंत्रता मिलने के बाद पहली बार वोट डालने वाले पहले मतदाता श्याम शरण नेगी को याद कर उन्हें श्रद्धांजलि दी। उन्होंने कहा कि इस बार हिमाचल के चुनाव बेहद खास होने वाले हैं। यहां के युवा और महिलाएं जानते हैं कि भाजपा यानी विकास को प्राथमिकता। इसलिए इस विधानसभा चुनाव में यहां की जनता बीजेपी की जोरदार वापसी की ठान चुकी है।

पीएम मोदी ने कहा कि इस बार 12 नवंबर को पड़ने वाला एक-एक वोट, हिमाचल के अगले 25 साल की विकास यात्रा तय करेगा। हिमाचल के लोग भाजपा सरकार की जोरदार वापसी की ठान चुके हैं। फौजियों की ये धरती, वीर माताओं की ये धरती, जब संकल्प ले लेती है तो उसे सिद्ध करके ही दिखाती है।

याद दिलाया आर्टिकल 370 और राम मंदिर का वादा

पीएम मोदी ने कहा कि बीजेपी जो संकल्प लेती है, उसकी सिद्धि करके दिखाती है। जम्मू-कश्मीर से आर्टिकल 370 हटाने का संकल्प लिया, उसे सिद्ध करके दिखाया। बीजेपी ने राम मंदिर निर्माण का संकल्प लिया, आज अयोध्या में इतना भव्य राम मंदिर बन रहा है। कांग्रेस की सच्चाई ये है कि 2012 में जिस घोषणा पत्र पर वो चुनाव जीते, वादे किए थे, एक भी काम उन्होंने नहीं किया, जबकि बीजेपी की पहचान है कि हम जो कहते हैं उसे पूरा करने के लिए दिन-रात खपा देते हैं।

'कांग्रेस सालों से कर रही वन रैंक वन पेंशन का वादा'

कांग्रेस 40 साल से देश के फौजियों को वन रैंक वन पेंशन का वादा करती आ रही थी लेकिन, इतने वर्षों तक केंद्र में कांग्रेस की सरकार रहने के बावजूद उसने कुछ नहीं किया। आजादी के बाद देश का पहला घोटाला कांग्रेस ने रक्षा क्षेत्र में ही किया था। तब से कांग्रेस की सरकार जब तक रही, तब तक रक्षा सौदों में जमकर दलाली खाई। कांग्रेस कभी नहीं चाहती थी कि देश रक्षा साजो-सामान के मामले में आत्मनिर्भर बने लेकिन, आज भारत आत्मनिर्भर होने का अभियान चला रहा है। अपने हथियार खुद बनाने पर जोर दे रहा है। कांग्रेस देश की रक्षा की ही नहीं, बल्कि देश के विकास की भी हमेशा विरोधी रही है।

पहले पंजाब में राधा स्वामी सत्संग प्रमुख से मिले मोदी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी शनिवार को हिमाचल में विधानसभा चुनाव प्रचार से पहले पंजाब के अमृतसर पहुंचे हैं, जहां उन्होंने ब्यास स्थित राधा स्वामी सत्संग के प्रमुख बाबा गुरिंदर सिंह ढिल्लो से मुलाकात की। उन्होंने डेरा का भी दौरा किया। माना जा रहा है कि पीएम मोदी के इस दौरे से हिमाचल के चुनाव पर भी काफी असर पड़ेगा, क्योंकि हिमाचल में भी बड़ी संख्या में इसके अनुयायी हैं। सूत्रों के अनुसार भाजपा रविवार को हिमाचल प्रदेश के लिए अपना ‘दृष्टि पत्र’ (घोषणा पत्र) जारी करेगी।

कांग्रेस का घोषणा पत्र : एक लाख रोजगार समेत 10 गारंटी

हिमाचल प्रदेश चुनाव के लिए कांग्रेस ने शनिवार को अपना घोषणा पत्र जारी कर दिया। इसमें कहा गया है कि पहली कैबिनेट बैठक में 1 लाख लोगों को रोजगार देने का काम किया जाएगा। कांग्रेस ने घोषणापत्र में हिमाचल की जनता को 10 गारंटी देने का वादा किया है, जिसमें महिलाओं को 1500 रुपये प्रति माह, 300 यूनिट मुफ्त बिजली और 2 रुपये प्रति किलो गाय के गोबर की खरीद शामिल है।

इसके अलावा पार्टी ने पुरानी पेंशन योजना और प्रत्येक निर्वाचन क्षेत्र में 10 करोड़ 'स्टार्टअप निधि' देने का वादा किया है। कांग्रेस ने अपने घोषणापत्र में कहा है कि फलों की कीमत बागवान ही तय करेंगे। साथ ही हर विधानसभा क्षेत्र में 4 अंग्रेजी स्कूल खोले जाने की बात कही गई है। इसके अलावा मोबाइल वैन से हर गांव में मुफ्त इलाज की सुविधा देने का भी वादा किया गया है। वहीं, पार्टी ने पशुपालकों से रोजाना 10 लीटर दूध खरीद करने का वादा किया है।

छत्तीसगढ़ के CM समेत ये रहे मौजूद

घोषणा पत्र जारी करने के मौके पर अखिल भारतीय कांग्रेस समिति (AICC) के हिमाचल प्रदेश प्रभारी राजीव शुक्ला, प्रदेश कांग्रेस समिति के पूर्व प्रमुख सुखविंदर सिंह सुक्खू, एआईसीसी सचिव तेजिंदर पाल बिट्टू और मनीष चतरथ भी मौजूद थे। इसके अलावा छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल भी मौजूद रहे।

हिमाचल में मतदान 12 नवंबर को

हिमाचल प्रदेश में 12 नवंबर को मतदान होगा और मतगणना 8 दिसंबर को होनी है। कांग्रेस राज्य में सत्ता विरोधी लहर को भुनाने की कोशिश कर रही है और मतदाताओं से भाजपा को सत्ता से बेदखल करने की अपील कर रही है। दूसरी ओर, बीजेपी दोबारा सत्ता में बने रहने की कोशिश में लगी हुई है। भाजपा नेता इस बार राज्य में रिवाज बदलने का दावा कर रहे हैं।

Himachal Election 2022: कांग्रेस का घोषणाओं का पिटारा...मोदी का जवाब करारा, बोले- 'झूठे वादे-झूठी गारंटी'
Himachal Election 2022: भाजपा-कांग्रेस-आप के 'रणबांकुरे' तैयार; अब जोर पकड़ेगा प्रचार
Since independence
hindi.sinceindependence.com