जयपुर का डेजर्ट पार्क: देश का पहला ऐसा पार्क जो रेतीले टीबों पर विकसित किया

देश का पहला ऐसा पार्क है जिसे रेतीले टीलों पर विकसित किया गया
PHOTO- DAINIK BHASKAR
PHOTO- DAINIK BHASKAR

डेस्क न्यूज. जयपुर के अमानीशाह नाला (द्रव्यवती नदी) के पास किशनबाग में खाली जमीन पर विकसित किया गया डेजर्ट पार्क दीवाली तक आम जनता के लिए खुल सकता है। शहरी विकास मंत्री (यूडीएच) मंत्री शांति धारीवाल ने आज मौके पर परियोजना का निरीक्षण किया और जेडीए अधिकारियों को इसे जल्द खोलने के निर्देश दिए. इस दौरान उनके साथ जेडीए कमिश्नर गौरव गोयल और अन्य अधिकारी भी थे.

देश का पहला ऐसा पार्क है जिसे रेतीले टीलों पर विकसित किया गया

जेडीए अधिकारियों के मुताबिक यह देश का पहला ऐसा पार्क है जिसे रेतीले टीलों पर विकसित किया गया है।

विद्याधर नगर के पास बने इस पार्क को जैसलमेर में बने रेगिस्तानी इलाके की थीम पर तैयार किया गया है.

नाहरगढ़ की पहाड़ियों के नीचे बना यह रेगिस्तानी पार्क करीब 64 हेक्टेयर भूमि पर है।

इस पार्क में आने वाले लोगों को कुछ प्रवेश शुल्क भी देना होगा,

यह कितना होगा यह जल्द ही तय कर लिया जाएगा।

पार्क में जैसलमेर, जोधपुर, बीकानेर, बाड़मेर, जालोर क्षेत्र में उगने वाली वनस्पतियों को लगाया गया

पार्क में आने वाले लोगों को जैसलमेर, बाड़मेर में बनी रेत की तरह महसूस कराने के लिए जैसलमेर, जोधपुर, बीकानेर, बाड़मेर, जालोर क्षेत्र में उगने वाली वनस्पतियों को लगाया गया है। लपड़ा, दीपक, धामन, चिंकी, मकदो, दाब, कराड और सेवन हैं। इसके अलावा खैर, रोंज, कुम्था, अकोल, ढोंक, खेजड़ी, कैर, गुंडा, लसोड़ा, गूलर, फालसा, रोहिड़ा, पीपल, अडुसा, अमवाल, खिमप आदि प्रजातियों के पेड़ लगाए गए हैं।

नाहरगढ़ पहाड़ी की तलहटी में विकसित किया गया

इस पार्क को नाहरगढ़ पहाड़ी की तलहटी में विकसित किया गया है, जिससे बड़ी संख्या में तीतर, चील, खरगोश जैसे जानवर भी आते हैं और चले जाते हैं। इसे देखते हुए जेडीए ने यहां जल निकाय बनाया है। जब ये पशु-पक्षी इस जलाशय में पानी पीने आएंगे तो यह पर्यटकों के आकर्षण का केंद्र होगा। यहां आने वाले पर्यटकों के लिए ईख की टहनियों से बना शेड तैयार किया गया है। पार्क में 600 मी. एक लंबा पत्थर और लकड़ी का पैदल रास्ता है।

Since independence
hindi.sinceindependence.com