कर्नाटक में राशन कार्ड पर ईसा मसीह और देवी लक्ष्मी की तस्वीर: बीजेपी का आरोप- ईसाई धर्म थोपने की कोशिश

कर्नाटक में राशन कार्ड पर ईसा मसीह और देवी लक्ष्मी की तस्वीर: बीजेपी का आरोप- ईसाई धर्म थोपने की कोशिश

कर्नाटक के रामनगर में राशन कार्ड पर ईसा मसीह और देवी लक्ष्मी की तस्वीरें छपने को लेकर विवाद शुरू हो गया है। मामला डोड्डा अलनहल्ली गांव का है। ये तस्वीरें राशन कार्ड के पिछले पन्ने पर छपी हैं। इसकी निंदा करते हुए हिंदू संगठनों ने जांच की मांग की है।

रामनगर जिले के कनकपुरा तालुका के गाँव में, राशन कार्ड के पीछे यीशु मसीह की तस्वीर है और इसके नीचे न्यू पुष्पा स्टूडियो डोड्डा अलनहल्ली छपा हुआ है। कनकपुरा के तहसीलदार विश्वनाथ ने वायरल हो रही फोटो की जांच के आदेश दिए हैं। जांच शुरू हो गई है। हालांकि पुलिस ने अभी तक प्राथमिकी दर्ज नहीं की है।

बीजेपी का आरोप- ईसाई धर्म थोपने की कोशिश

क्षेत्र में सांप्रदायिकता को बढ़ावा देने के प्रयासों पर एक बहस शुरू हो गई है। उधर, हिंदू कार्यकर्ताओं और भाजपा नेताओं ने आरोप लगाया है कि ईसाई धर्म थोपने की कोशिश की जा रही है। श्री राम सेना ने कहा है कि वह इस मामले को आयुक्त के समक्ष उठाएगी।

आंध्र प्रदेश में भी हुई ऐसी ही घटना

आंध्र प्रदेश में भी 2019 में इसी तरह की घटना सामने आई थी। हालांकि, तब राज्य सरकार ने कहा था कि एक राशन कार्ड डीलर जो कि वाल्दामुरु गांव के तेदेपा सदस्य भी था, इसी ने राशन कार्ड पर यीशु मसीह की तस्वीर को साजिश के तहत छापा और इंटरनेट पर वायरल कर दिया था।

सरकार ने यह भी दावा किया था कि इससे पहले भी इसी व्यक्ति ने राशन कार्ड पर साईंबाबा की तस्वीर छापी थी और 2017 में भगवान बालाजी की तस्वीर छापी थी।

कर्नाटक में राशन कार्ड पर ईसा मसीह और देवी लक्ष्मी की तस्वीर: बीजेपी का आरोप- ईसाई धर्म थोपने की कोशिश
Anjum Aara : राजस्थान की पहली मुस्लिम महिला पढ़ाएंगी संस्कृत, रामायण को बताया कुरान जैसा पवित्र ग्रंथ

Related Stories

No stories found.
logo
Since independence
hindi.sinceindependence.com