Madhya Pradesh: मुहर्रम जुलूस में 'सर तन से उतारने...' के लगे नारे, व्यापारी को जान से मारने की धमकी

जौनपुर के बाद अब मध्य प्रदेश के खंडवा में मुहर्रम के जुलूस में 'सर तन से जुदा...' के नारे लगे। साथ ही व्यापारी को धमकी दी गई है। इस मामले में पुलिस ने 25 लोगों के खिलाफ FIR दर्ज की गई है।
Madhya Pradesh: मुहर्रम जुलूस में 'सर तन से उतारने...' के लगे नारे, व्यापारी को जान से मारने की धमकी

मुहर्रम के मौके पर मुस्लिम समुदाय के वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहे है। पहले जौनपुर जहां पर मुहर्रम के मातम पर पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगाने का वीडियो वायरल हुआ था, जिसने चार लोगों को गिरफ्तार कर लिया गया है। अब मध्य प्रदेश के खंडवा में मुहर्रम के जुलूस में 'सर तन से जुदा...' के नारे लगे। साथ ही व्यापारी को धमकी दी गई है। इस मामले में पुलिस ने 25 लोगों के खिलाफ FIR दर्ज की गई है।

जुलूस में 'सर तन से जुदा...' के नारे लगे

खंडवा में मुहर्रम के जुलूस में 'सर तन से जुदा...' के नारे लगे। 10 अगस्त बुधवार रात की इस घटना का वीडियो सामने आने के बाद पुलिस ने 25 लोगों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की है। वहीं, एक व्यवसायी को जान से मारने की धमकी भी मिली है। बस इस व्यवसायी की गलती इतनी थी कि उसने नारा लगाने वाले लोगों की पहचान कर ली थी और उसके खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करा दी थी। आपको बता दें कि मुहर्रम के जुलूस के दौरान खंडवा के एक व्यवसायी और तेल मिल मालिक अशोक पालीवाल को जान से मारने की धमकी मिली थी। वायरल वीडियो में अपना नाम सुनकर व्यापारी ने पुलिस को सूचना दी। पुलिस ने पालीवाल की शिकायत पर मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया

VIDEO शहर के जय अम्बे चौक का बताया जा रहा है। मुहर्रम के जुलूस में पहुंचते ही इसमें शामिल कुछ लोगों ने विवादित नारेबाजी शुरू कर दी। इस स्थान पर हिंदू संगठन के नेताओं द्वारा स्थापित महादेवगढ़ मंदिर है। विश्व हिंदू परिषद और महादेवगढ़ मंदिर प्रशासन ने वीडियो पर आपत्ति जताते हुए शिकायत की थी। इसके बाद पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है।

इससे पहले थाने के अंदर नारेबाजी की गई

मीडिया रिपोर्टस की माने तो महादेवगढ़ मंदिर के संरक्षक अशोक पालीवाल ने कहा कि इससे पहले थाने के अंदर 'सर तन से जुदा...' के नारे लग चुके हैं। मामला दर्ज किया गया था, लेकिन कोई कठोर कार्रवाई नहीं की गई थी। इसलिए जुलूस के अंदर फिर वही नारे लगे। नारेबाजी के साथ जुलूस निकालने वाले नेता के खिलाफ भी मामला दर्ज किया जाए। सीएसपी पूनमचंद यादव ने कहा, आपत्तिजनक नारे लगाने वालों की पहचान की जा रही है। बता दें, एक महीने पहले जब जलेबी चौक के पास की दुकानों में आगजनी की घटना हुई थी, तब भी कोतवाली थाने के अंदर एक नेता और उसके साथियों ने यही नारेबाजी की थी. हालांकि उसके खिलाफ धारा 188 के तहत उसी समय कार्रवाई की गई।

Since independence
hindi.sinceindependence.com