RAS की मुख्य परीक्षा को स्थगित करने की मांग, RPSC के बाहर धरने की घोषणा

रविवि के मुख्य द्वार पर धरने पर बैठे अभ्यर्थियों ने अब आमरण अनशन की चेतावनी दी है। इसके साथ ही आरपीएससी के बाहर भी धरना शुरू करने की घोषणा की गई है।
आरपीएससी के बाहर धरने की घोषणा

आरपीएससी के बाहर धरने की घोषणा

आरएएस मुख्य परीक्षा स्थगित करने की मांग को लेकर राजस्थान विश्वविद्यालय के मुख्य द्वार पर चल रहा विरोध प्रदर्शन अब और तेज होता दिख रहा है मुख्य परीक्षा आयोजित होने में महज 8 दिन बचे हैं लेकिन परीक्षार्थी लगातार मुख्य परीक्षा स्थगित करने की मांग पर अड़े हुए हैं।

<div class="paragraphs"><h3>एक महीने से प्रदेश भर में आंदोलन चल रहा</h3><p><br></p></div>

एक महीने से प्रदेश भर में आंदोलन चल रहा


फोटो-टीवी9 भारतवर्ष

आरपीएससी के बाहर भी धरना शुरू करने की घोषणा

पिछले सात दिनों से रविवि के मुख्य द्वार पर धरने पर बैठे अभ्यर्थियों ने अब आमरण अनशन की चेतावनी दी है। इसके साथ ही आरपीएससी के बाहर भी धरना शुरू करने की घोषणा की गई है।

एक महीने से प्रदेश भर में आंदोलन चल रहा

परीक्षा को 2 से 3 महीने के लिए टालने की मांग को लेकर पिछले एक महीने से प्रदेश भर में आंदोलन चल रहा है, वहीं पिछले सात दिनों से प्रदेश भर से जुटे अभ्यर्थी कैंप कर रहे हैं। धरने और प्रदर्शन में बड़ी संख्या में महिला उम्मीदवार भी मौजूद हैं।

धरने पर बैठे छात्रों का क्या कहें?

धरने पर बैठे अभ्यर्थियों का कहना है कि ''किसी भी परीक्षा का सिलेबस रिलीज के साथ जारी कर दिया जाता है लेकिन इस बार आरएएस परीक्षा में सब कुछ उल्टा हो रहा है। पहले प्री परीक्षा हुई और प्री परीक्षा का परिणाम आने के बाद आरपीएससी सिलेबस जारी कर रही है। जब सिलेबस बदलना था तो परीक्षार्थियों को प्री और मेन परीक्षा के बीच लगभग 6 महीने का समय देना चाहिए था, लेकिन आरपीएससी ने केवल 3 महीने का समय दिया, जिसके कारण वे मुख्य परीक्षा की तैयारी नहीं कर पाए। जब तक मांग पूरी नहीं होगी तब तक आंदोलन किया जाएगा।

Like Follow us on :- Twitter | Facebook | Instagram | YouTube

<div class="paragraphs"><p>आरपीएससी के बाहर धरने की घोषणा</p></div>
गाजीपुर की मंडी के बाद मिला सीमापुरी के घर में संदिग्‍ध बैग, NSG की टीम मौके पर, बरामद हुई IED
Since independence
hindi.sinceindependence.com