जाट समाज का महाकुंभ; ओबीसी आरक्षण 27 फीसदी करने की मांग, टिकैत की चेतावनी- फिर होगा किसान आंदोलन

जयपुर के विद्याधर नगर स्टेडियम में जाट महाकुंभ का आयोजन किया गया। जिसमें राजस्थान में जातिगत जनगणना और ओबीसी का आरक्षण 21 से बढ़ाकर 27 फीसदी करने की मांग को ही सियासी मुद्दा बनाया गया है।
जाट समाज का महाकुंभ; ओबीसी आरक्षण 27 फीसदी करने की मांग, टिकैत की चेतावनी- फिर होगा किसान आंदोलन

राजस्थान में चुनावी बिगुल बजने के साथ ही राजनीतिक और सामाजिक रूप से हलचल तेज हो गई है। जयपुर के विद्याधर नगर स्टेडियम में जाट महाकुंभ का आयोजन किया गया। जिसमें जातिगत जनगणना और ओबीसी आरक्षण को लेकर जयपुर के विद्याधर नगर स्टेडियम में जाट महाकुंभ में सभी पार्टियों के नेता जुटे।

राजस्थान में जातिगत जनगणना और ओबीसी का आरक्षण 21 से बढ़ाकर 27 फीसदी करने की मांग को ही सियासी मुद्दा बनाया गया है।

जाट महाकुंभ में प्रमुख नेताओं ने क्या कहा...पढ़िए

जाट समाज का महाकुंभ; ओबीसी आरक्षण 27 फीसदी करने की मांग, टिकैत की चेतावनी- फिर होगा किसान आंदोलन
Rajasthan: Holi से पहले BJP में दिखे अलग-अलग रंग; CM पद पर दावेदारी, विरोध प्रदर्शन तो कहीं धरना

पार्टी की विचारधारा से पहले समाज का हूं- डोटासरा

इस महाकुंभ में शिरकत करने पहुंचे कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा ने कहा कि मैं जिस हैसियत में हूं, मेरी पार्टी के नेता और मेरी पार्टी की विचारधारा से ऊपर उठकर भी मैं पहले समाज का हूं।

डोटासरा ने जाट नेताओं को नसीहत दी और कहा कि दो बातों का ध्यान रखें, एक तो किसी भी दूसरे समाज के खिलाफ एक भी गलत शब्द नहीं निकलना चाहिए। यह प्रण लेकर हमें यहां से जाना पड़ेगा।

दूसरा अगर हम किसी की मदद कर रहे हैं तो चुपचाप करें।हमारे समाज में यह कमी है कि हल्ला करते हैं कि हम मदद करेंगे, तब तक दुश्मन सक्रिय हो जाता है और हमारे समाज के व्यक्ति की मदद नहीं हो पाती है।

अपमान देखा, तिरस्कार देखा- सतीश पूनिया

जाट महाकुंभ में पहुंचे सतीश पूनिया ने कहा कि जो जाट गांव में सामाजिक समरसता के लिए जाना जाता था। जो मेहनत, ईमानदारी, देशभक्ति के लिए जाना जाता था, वह हमारा चरित्र भी है और हमारी ताकत भी है। इसलिए पंचायती राज के चुनाव में आपके पीछे जो छत्तीस समुदाय खड़े होते थे, उनमें फूट डालने की कोशिश की गई है। समय की इस नजाकत को समझो, बुद्धि कौशल का उपयोग करो।

सतीश पूनिया ने अपने बारे में कहा कि मैं भी चूरू जिले के एक छोटे किसान के घर पैदा हुआ हूं। मैं पिछले 35 साल से राजनीति में हूं। मेरी मां, मेरे परिवार ने मुझे संस्कार दिए। मैं भी स्वतंत्रता सेनानी परिवार से हूं, मैंने वह सब देखा है जो एक गरीब देखता है। दुख देखा, अपमान देखा, तिरस्कार देखा, विरोध देखा, संघर्ष देखा।

जाट समाज का महाकुंभ; ओबीसी आरक्षण 27 फीसदी करने की मांग, टिकैत की चेतावनी- फिर होगा किसान आंदोलन
Rajasthan Politics: सालासर महोत्सव वसुंधरा का शक्ति प्रदर्शन तो नहीं? पूनिया भी बोलने से बच रहे

फिर से आंदोलन के लिए रहे तैयार- टिकैत

भारतीय किसान यूनियन के नेता राकेश टिकैत ने जाट महाकुंभ में लोगों से फिर से आंदोलन के लिए तैयार रहने को कहा है। राकेश टिकैत ने कहा कि फिर से बड़ा आंदोलन करना होगा। किसान की जमीन हड़पने की बड़ी साजिश रची जा रही है। पूरे देश में जमीन बचानी है। सरकार की नीति खराब है।

जिसके पास 10 साल पुराना ट्रैक्टर खेत में काम कर रहा हो, ट्रैक्टर तैयार रखें, हमारे आंदोलन में खेत में काम करने वाला ट्रैक्टर सड़क पर टंकी का काम करेगा। आप तैयार रहें, समय और स्थान की जानकारी दी जाएगी।

टिकैत ने कहा कि सरकारों की गलत नीतियों को लेकर फिर से आंदोलन होगा। अगला आंदोलन MSP पर खरीद का कानून बनाने का होगा, हमारी फसल बिकेगी, मोटे अनाज की होगी।

जाट समाज का महाकुंभ; ओबीसी आरक्षण 27 फीसदी करने की मांग, टिकैत की चेतावनी- फिर होगा किसान आंदोलन
Jat Mahakumbh: 5 मार्च को जाट भरेंगे हुंकार, राजस्थान में OBC आरक्षण 27% करने की मांग

Related Stories

No stories found.
logo
Since independence
hindi.sinceindependence.com