AI: जेनेवा प्रेस कॉन्फ्रेंस में AI रोबोट्स बोले- हम इंसानों से बगावत नहीं करेंगे, दुनिया को हम बेहतर ढंग से चला सकते हैं

स्विट्जरलैंड के जेनेवा में पहली बार दुनिया के सबसे स्मार्ट AI रोबोट्स की प्रेस कॉन्फ्रेंस हुई। इस प्रेस कॉन्फ्रेंस में 51 AI रोबोट्स लगभग 3000 एक्सपर्ट्स के साथ आए थे। प्रेस कॉन्फ्रेंस में रोबोट्स ने अलग-अलग मुद्दों पर पूछे गए सवालों के जवाब भी दिए।
AI: जेनेवा प्रेस कॉन्फ्रेंस में AI रोबोट्स बोले- हम इंसानों से बगावत नहीं करेंगे, दुनिया को हम बेहतर ढंग से चला सकते हैं
image credit - pixabay

AI इस समय बहुत ज्यादा सुर्खियां बटोर रहा है। स्विट्जरलैंड के जेनेवा में पहली बार दुनिया के सबसे स्मार्ट AI रोबोट्स की प्रेस कॉन्फ्रेंस हुई। AI से ऑपरेट होने वाले रोबोट्स ने इस प्रेस कॉन्फ्रेंस में भाग लिया था। इस प्रेस कॉन्फ्रेंस में 51 AI रोबोट्स लगभग 3000 एक्सपर्ट्स के साथ आए थे।

प्रेस कॉन्फ्रेंस में रोबोट्स ने अलग-अलग मुद्दों पर पूछे गए सवालों के जवाब भी दिए। प्रेस कॉन्फ्रेंस में सोफिया नाम की AI रोबोट ने कहा कि हम दुनिया को इंसानों से भी बेहतर तरीके से चला सकते हैं।

AI रोबोट ने कहा कि हमारे अंदर इंसानों जैसी भावनाएं नहीं हैं, लेकिन इससे हम सभी फैसलों को अपने तरीके से मजबूती के साथ फैक्ट्स के आधार पर काम में ले सकते हैं।

AI रोबोट्स ने ये भी माना है कि वो अभी तक इंसानों की भावनाओं को ठीक से समझ नहीं पाए हैं। रोबोट ऐडा ने कहा कि हम इंसान की उम्र 150 से 180 साल तक बढ़ा भी सकते हैं।

इस प्रेस कॉन्फ्रेंस का उद्देस्य जलवायु परिवर्तन, भूख और सामाजिक देखभाल जैसे मुद्दों में AI रोबोट के इस्तेमाल पर विचार करना था।

कई बड़े लोग बता चुके हैं AI को मानवता के लिए खतरा

कई बड़े लोगों जैसे बिल गेट्स और एलन मस्क ने AI को इंसानों के लिए बहुत बड़ा खतरा बताया हैं।

डॉक्टर ज्यॉफ्रे हिंटन, आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (AI) के गॉड फादर का कहना है कि AI मानवता के लिए खतरा है। अभी AI वरदान जैसा लग रहा हो, लेकिन ऐसा नहीं है।

CEO सुंदर पिचाई का कहना है कि इसमें कोई संदेह नहीं कि AI के लिए नियम जरूरी हैं। कंपनियां AI के इस्तेमाल की खुली छूट नहीं दे सकती।

स्टीफन हॉकिंग का कहना है कि AI सबसे बड़ी सफलता और खतरनाक समस्या बन सकती है। हम अभी इसके लिए तैयार नहीं हुए तो, यह इस सभ्यता की सबसे भयावह घटना बन सकती है।

व्लादिमिर पुतिन, रूसी राष्ट्रपति का कहना है कि AI हमारे अस्तित्व पर मंडरा रहा सबसे खतरा हो सकता है। AI में अपार संभावनाएं और खतरे हैं।

जो देश AI में ज्यादा आगे बढ़ेगा वह इसमें लीडर बनेगा और वह इस दुनिया पर राज करेगा।

AI: जेनेवा प्रेस कॉन्फ्रेंस में AI रोबोट्स बोले- हम इंसानों से बगावत नहीं करेंगे, दुनिया को हम बेहतर ढंग से चला सकते हैं
AI: एआई थी जसवंत की गर्लफ्रेंड, उसके कहने पर ब्रिटिश महारानी की हत्या करने महल में घुसा था जसवंत
logo
Since independence
hindi.sinceindependence.com