भूकंप के झटके से हिला ईरान, 5 की मौत, 19 से घायल

यूएस जियोलॉजिकल सर्वे के मुताबिक, भूकंप का केंद्र बंदरगाह शहर होर्मोज़गन प्रांत के बंदर अब्बास से 100 किलोमीटर दूर था। भूकंप स्थानीय समयानुसार दोपहर 1.30 बजे आया
भूकंप के झटके से हिला ईरान, 5 की मौत, 19 से घायल

ईरान में शनिवार सुबह भूकंप के झटके महसूस किए गए। रिक्टर पैमाने पर इसकी तीव्रता 6.3 मापी गई। इस दौरान 5 लोगों की जान चली गई। 19 से ज्यादा लोगों के घायल होने की खबर है। इसके झटके फारस की खाड़ी समेत यूएई में भी महसूस किए गए। यूएई से अभी तक किसी नुकसान की खबर नहीं है।

भूकंप की तीव्रता 6.3 तीव्रता दर्ज
ईरान स्टेट टेलीविजन के अनुसार, भूकंप की तीव्रता 6.3 तीव्रता दर्ज की गई। इसके तुरंत बाद दो और भूकंप दर्ज किए गए। इसका उपरिकेंद्र पोर्ट सिटी के बंदरगाह के पास बताया गया, जो जमीन से 10 किमी गहरा था।

पांच लोगों की मौत

यूएस जियोलॉजिकल सर्वे के मुताबिक, भूकंप का केंद्र बंदरगाह शहर होर्मोज़गन प्रांत के बंदर अब्बास से 100 किलोमीटर दूर था। भूकंप स्थानीय समयानुसार दोपहर 1.30 बजे आया। भूकंप का केंद्र सैह खोशो गांव में पांच लोगों की मौत हो गई।

25 जून को भूकंप भी आया था

ईरान के दक्षिणी प्रांत में 25 जून को 5.6 तीव्रता का भूकंप महसूस किया गया था। इस आपदा में एक व्यक्ति की मौत हो गई थी और 30 से अधिक लोग घायल हो गए थे। ईरानी मीडिया के पास यह जानकारी थी। ईरान की सरकारी समाचार एजेंसी इरना ने कहा कि भूकंप का केंद्र होर्मोज़गन प्रांत के किश द्वीप से 22 किलोमीटर उत्तर पूर्व में था। इसका केंद्र सतह से 22 किमी नीचे था।

2003 में 26 हजार लोगों की मौत

इससे पहले भी ईरान भूकंप से हुई तबाही का सामना कर चुका है। 2003 में बाम शहर में 6.6 तीव्रता का भूकंप आया था। इस दौरान 26000 लोगों की जान चली गई।

भूकंप क्यों आता है

पृथ्वी के अंदर 7 प्लेटें हैं जो लगातार घूमती रहती हैं। वे स्थान जहाँ ये प्लेट अधिक टकराते हैं, फॉल्ट लाइन जोन कहलाते हैं। बार-बार टकराने से प्लेटों के कोने मुड़ जाते हैं। जब दबाव बनना शुरू होता है, तो प्लेटें टूटने लगती हैं। इनके टूटने से अंदर की ऊर्जा बाहर आने का रास्ता खोज लेती है। इस अशांति के बाद भूकंप आता है।

भूकंप के झटके से हिला ईरान, 5 की मौत, 19 से घायल
भारतीय कंपनी का रूस को चीनी मुद्रा युआन में भुगतान, क्या खत्म हो रही है डॉलर की दादागिरी

Related Stories

No stories found.
Since independence
hindi.sinceindependence.com