Pulitzer Prize 2022: भारत के इन तीन पत्रकारों मिलेगा पुलित्जर सम्मान, इसलिए दिया जाता है ये पुरस्कार

Pulitzer Prize 2022: अमेरिका ने अपने सर्वोच्च पुलित्जर पुरस्कार 2022 के विजेताओं के नाम की घोषणा कर दी है। इस बार इसमें भारत के तीन पत्रकार अदनान आबिदी, सना इरशाद मट्टू, अमित दवे ने अपनी जगह बनाई।
Pulitzer Prize 2022: भारत के इन तीन पत्रकारों मिलेगा पुलित्जर सम्मान, इसलिए दिया जाता है ये पुरस्कार
Pulitzer Prize 2022image credit - Poynter

Pulitzer Prize 2022: अमेरिका ने अपने सर्वोच्च पुलित्जर पुरस्कार 2022 के विजेताओं के नाम की घोषणा कर दी है। इस साल के पुलित्जर पुरस्कार में भारतीयों का दबदबा रहा। Pulitzer Prize 2022 के विजेताओं में भारत के तीन पत्रकार अदनान आबिदी, सना इरशाद मट्टू, अमित दवे ने अपनी जगह बनाई।

इसके अलावा ब्रिटेन की समाचार ए़जेंसी रॉयटर्स के दिवंगत पत्रकार दानिश सिद्दीकी को मरणोपरांत इस पुरस्कार से सम्मानित किया गया।

बता दें कि यह पुरस्कार पत्रकारिता, किताब, ड्रामा और संगीत के अलग-अलग क्षेत्रों में दिया जाता है।

कोरोनो के दौरान बेहतर फोटोग्राफी के लिए हुए सम्मानित भारतीय फोटोग्राफर

सूत्रों के अनुसार भारत के तीन पत्रकारों अदनान आबिदी, सना इरशाद मट्टू, अमित दवे को यह पुरस्कार कोरोना महामारी को दौरान परिस्थितियों को फोटोग्राफी के माध्यम से बेहतर तरीके से समझाने के लिए दिया गया। यह तीनों समाचार एजेंसी रॉयटर्स के लिए काम करते है।

अदनान आबिदी और सना इरशाद मट्टू
अदनान आबिदी और सना इरशाद मट्टू

संघर्ष की रिपोर्टिंग पुलित्जर पुरस्कार से सम्मानित

दानिश सिद्दीकी को पुलित्जर पुरस्कार मरणोपरांत मिला। बता दें कि पिछले साल अफगान विशेष बलों और तालिबान विद्रोहियों के बीच संघर्ष की रिपोर्टिंग करने के दौरान मारे गए थे। उनकी बहादुरी को सम्मानित करने के लिए इस साल उन्हें यह पुरस्कार दिया गया है।

बता दें कि दानिश को साल 2018 में भी फीचर फोटोग्राफी के लिए पुलित्जर पुरस्कार मिला था।

दानिश सिद्दीकी
दानिश सिद्दीकी image credit -Twitter/@dansiddiqui

जानें क्यों दिया जाता है ये पुरस्कार

पुलित्जर पुरस्कार की बात करे तो यह पत्रकारिता क्षेत्र का सर्वोच्च सम्मान है। यह देश-विदेश के सभी पत्रकारों को उनके बेहतर कार्य के लिए सम्मानित करने के लिए दिया जाता है।

यह पुरस्कार मूल रूप से हंगरी के रहने वाले न्यूज़ पेपर पब्लिशर जोसेफ पुलित्जर के नाम पर दिया जाता है।

image credit -Twitter/ @PulitzerPrizes

यह पुरस्कार मूल रूप से हंगरी के रहने वाले न्यूज़ पेपर पब्लिशर जोसेफ पुलित्जर के नाम पर दिया जाता है।जोसेफ ने अपनी संपत्ती से कोलंबिया विश्वविद्यालय को पत्रकारिता स्कूल शुरू करने और पुरस्कार स्थापित करने के लिए मोटा फंड दिया था। उन्होंने इस पुरस्कार और स्कॉलरशिप के लिए कोलंबिया विश्वविद्यालय को उस समय ढाई लाख डॉलर दिए थे। जोसेफ पुलित्जर की मृत्यु 29 अक्टूबर 1911 में हुई थी। इसके बाद उनकी याद में 4 जून 1917 से पुलित्जर पुरस्कार देने की शुरुआत की गई।

2022 में पुलित्जर पुरस्कार से सम्मानित विजेताओं के नाम

सार्वजनिक सेवा

विजेता: वाशिंगटन पोस्ट, 6 जनवरी 2021 कैपिटल हिल पर हमले की रिपोर्टिंग के लिए सम्मानित।

खोजी पत्रकारिता

रेबेका वूलिंगटन के कोरी जी. जॉनसन और टैम्पा बे टाइम्स के एली मरे कोपुरस्कृत किया गया है। यह पुस्कार इन्हें फ्लोरिडा के एकमात्र बैटरी रीसाइक्लिंग प्लांट के अंदर अत्यधिक जहरीले खतरों को उजागर करने के लिए दिया गया है।

ब्रेकिंग न्यूज रिपोर्टिंग

मियामी हेराल्ड के कर्मचारी को पुलित्जर पुरस्कार मिला है। फ्लोरिडा में समुद्रतट पर अपार्टमेंट टावरों के ढहने के कवरेज के लिए उन्हें इस सम्मान से सम्मानित किया गया है।

व्यापक व्याख्यात्मक रिपोर्टिंग

इस पत्रकारिता के लिए क्वांटा पत्रिका के कर्मचारी विशेष रूप से नताली वोल्चोवर को पुरस्कृत किया गया है। इन्होंने वेब स्पेस टेलीस्कोप पर रिपोर्टिंग के लिए यह सम्मान हासिल किया है।

लोकल (स्थानिय) रिपोर्टिंग

बेटर गवर्नमेंट एसोसिएशन के मैडिसन हॉपकिंस और शिकागो ट्रिब्यून के सेसिलिया रेयेस को शिकागो के अधूरी भवन और अग्नि सुरक्षा संबंधी रिपोर्टिंग के लिए इस सम्मान से सम्मानित किया गया।

राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय रिपोर्टिंग

विजेता: द न्यूयॉर्क टाइम्स के कर्मचारी मिला यह सम्मान।

फीचर लेखन

विजेता: द अटलांटिक के जेनिफर सीनियर रहे।

फीचर फोटोग्राफी

अदनान आबिदी, सना इरशाद मट्टू, अमित दवे और रॉयटर्स के दिवंगत दानिश सिद्दीकी को यह पुरस्कार दिया गया है।

कॉमेंट्री

विजेता: मेलिंडा हेनेबर्गर को इस सम्मान से सम्मानित किया गया।

आलोचना

विजेता: सलामिशा टिलेट और द न्यूयॉर्क टाइम्स को यह सम्मान मिला।

इलस्ट्रेटेड रिपोर्टिंग और कमेंट्री

विजेता: फहमीदा अजीम, एंथोनी डेल कर्नल, जोश एडम्स और वॉल्ट हिक्की को यह पुरस्कार मिला।

ऑडियो रिपोर्टिंग

विजेता: ए फ्यूचूरो मीडिया और पीआरएक्स के कर्मचारी को यह सम्मान मिला है।

उपन्यास

द नेतन्याहूस, लेखक- जोशुआ कोहेन को मिला सम्मान।

नाटक

फैट हैम, जेम्स इजामेसो द्वारा लिखित।

जीवनी

चेजिग मी टू माई ग्रेव रही विजेता।

कविता

फ्रैंक: सॉनेट्स, डायने सीस द्वारा लिखित।

सामान्य गैर-कथा

एक अदृश्य बच्चा: एक अमेरिकी शहर में गरीबी, जीवन रक्षा और आशा के लिए एंड्रिया इलियट को यह सम्मान दिया गया है।

संगीत

रेवेन चाकोन, वॉयसलेस मास के संगीत के लिए यह पुरस्कार दिया गया।

Pulitzer Prize 2022
Shaheen Bagh: अतिक्रमण याचिका पर सुप्रीम फटकार, SC ने कहा - ये मामला जहांगीरपुरी से बिल्कुल अलग, पहले HC जाएं

Related Stories

No stories found.