Azamgarh: पिता ने की बेरहमी की हद पार, LUDO खेलने पर ली 8 साल के मासूम की जान

Azamgarh: उत्तर प्रेदश के आजमगढ़ से खबर आई है कि यहां एक पिता ने LUDO खेलने पर अपने 8 साल के बच्चे की जान ले ली। बच्चे की मां ने हत्या की सूचना पुलिस को दी।
Azamgarh: पिता ने की बेरहमी की हद पार, LUDO खेलने पर ली 8 साल के मासूम की जान

डेस्क से यशस्वनी की रिपोर्ट -

Azamgarh: लखनऊ में PUBG को लेकर मां की हत्या करने वाला मामला इन दिनों चर्चा में है। ऐसे में वीडियों गेम्स के कारण बढ़ रहे अपराधों पर एक बार फिर लोगों का ध्यान गया। हाल ही में उत्तर प्रेदश के आजमगढ़ से ऐसी ही एक खबर सामने आई है। खबर है कि आजमगढ़ में एक पिता ने LUDO खेलने पर अपने 8 साल के बच्चे की जान ले ली।

LUDO खेलने पर पिता ने ली बच्चे की जान

आजमगढ़ में एक मासूम को LUDO खेलने की कीमत अपनी जान देकर चुकानी पड़ी। घटना आजमगढ़ के रौनापार थाना क्षेत्र की है। यहां बीते शनिवार एक पिता ने अपने 8 साल के बच्चे को लूडों खेलने पर इस कदर पीटा की मासूम की जान चली गई। बताया जा रहा है कि महुला निवासी जितेन्द्र निषाद का बेटा लकी शाम को अपने घर के पास लूडो खेल रहा था। गुस्साए पिता ने इस बात पर बच्चे को बेरहमी से पीटा। पीटाई के कारण बच्चा गंभीर रुप से घायल हो गया और उसने रात करीब साढ़े नौ बजे दम तोड़ दिया।

image credit - PTI

पिता ने बच्चे के शव को नदी किनारे दफनाया

बच्चे की मौत के बाद भी पिता का दिल नहीं पसीजा। उसने अपने भाई उपेंद्र और चचेरे भाई राम के साथ मिलकर बच्चे के शव को नदी किनारे दफना दिया। पिता की भयावहता देखकर बच्चे की मां भी दंग रह गई।

बच्चे की मां और नानी ने दर्ज करवाई रिपोर्ट

मंगलवार शाम को बच्चे की मां और नानी ने महुला पुलिस ठाणे में जितेंद्र के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज करवाई। उन्होंने पुलिस को बताया कि जितेंद्र ने अपने 8 साल के मासूम लकी को मारकर नदी किनारे दफना दिया है। माँ की शिकायत की बाद पुलिस ने शव को बरामद कर पिता को हिरासत में लिया है।

Azamgarh: पिता ने की बेरहमी की हद पार, LUDO खेलने पर ली 8 साल के मासूम की जान
जानलेवा PUBG: कलयुगी पूत का कारनामा, मां के कत्ल का कोई पछतावा तक नहीं, हत्या के बाद की पार्टी

आरोपी के भाइयो की तलाश में जुटी पुलिस

पुलिस ने शिकायत दर्ज होने के तुंरत बाद बच्चे को पिता को गिरफ्तार कर लिया। बताया जा रहा है कि आरोपी के भाई पुलिस की सूचना मिलते ही फरार हो गए। इस मामले में पुलिस फिलाहाल आरोपी के भाईयों की तलाश में जुटी है।

बता दें की यह पहली घटना नहीं है जब गेम के चलते किसी मासूम की जान गई हो लेकिन ऐसी घटनाओं पर सबसे बड़ा सवाल ये है कि क्या ऐसे गेम्स के चलते लोगों में वास्तव में हिंसक प्रवृति इस कदर हावी हो जाती है कि वे सही और गलत का अंतर भूल जाते है, और इस तरह की घटनाओं को अंजाम देते है।

Azamgarh: पिता ने की बेरहमी की हद पार, LUDO खेलने पर ली 8 साल के मासूम की जान
जानलेवा PUBG: बैन के बाद भी भारत में खेला जा रहा PUBG, जानें कब-कब हादसों की वजह बना यह गेम

Related Stories

No stories found.
Since independence
hindi.sinceindependence.com