लखीमपुर खीरी हिंसा के मुख्य गवाह दिलबाग सिंह पर जानलेवा हमला, सपा ने की टेनी को बर्खास्त करने की मांग

Lakhimpur Kheri Violence: मंगलवार रात को लखीमपुर खीरी हिंसा के मुख्य गवाह दिलबाग सिंह (Dilbag Singh) को मारने की कोशिश की गई।
लखीमपुर खीरी हिंसा के मुख्य गवाह दिलबाग सिंह पर जानलेवा हमला, सपा ने की टेनी को बर्खास्त करने की मांग

Lakhimpur Kheri Violence: उत्तर प्रदेश के लखीमपुर से बड़ी खबर सामने आई है। मंगलवार रात को लखीमपुर खीरी हिंसा के मुख्य गवाह दिलबाग सिंह (Dilbag Singh) को मारने की कोशिश की गई। दिलबाग सिंह की कार पर 2 बदमाशों ने फायरिंग की पर वे बाल-बाल बचे।

बाइक सवार बदमाशों ने की अंधाधुंध फायरिंग

मंगलवार की रात दिलबाग सिंह अपनी कार से दो साथियों को भदेड़ छोड़कर वापस लौट रहे थे। रास्ते में बाइक सवार 2 बदमाशों ने दिलबाग सिंह की कार पर फायरिंग शुरू कर दी। जिसमें एक गोली उनकी कार के पहिये पर लगी, जिससे टायर पंचर हो गया। दोनों बदमाश दिलबाग को मारने के लिए उनकी कार के पास आए पर उन्होंने हॉर्न बजा दिया, जिससे गांव और आस-पास के लोग उनकी कार के पास आ गए। लोगों को देखकर दोनों बदमाश बाइक पर बैठकर फरार हो गए।

इस घटना की सूचना गोला कोतवाली समेत पुलिस के आला अधिकारियों को दी गई। पुलिस इस मामले की जांच कर रही है।

तिकुनिया कांड में अहम गवाह है दिलबाग

भारतीय किसान यूनियन के जिलाध्यक्ष दिलबाग सिंह (Dilbag Singh) तिकुनिया कांड (Lakhimpur Kheri Violence) के अहम गवाह हैं।

image source - PTI

बता दें कि 3 अक्टूबर 2021 को अजय मिश्रा के बेटे आशीष मिश्रा ने किसानों को मारने के लिए उन पर गाड़ी चढ़ा दी थी। इस मामले में SIT ने दावा किया था कि यह हिंसा जानबूझकर की गई थी। दिलबाग सिंह इसी मामले में अहम गवाह हैं।

लखीमपुर खीरी हिंसा के मुख्य गवाह दिलबाग सिंह पर जानलेवा हमला, सपा ने की टेनी को बर्खास्त करने की मांग
KK की मौत पर बढ़ा सस्पेंस, पुलिस को मिले शरीर पर चोट के निशान, BJP ने उठाए सवाल

समाजवादी पार्टी ने की टेनी के इस्तीफे की मांग

घटना पर समाजवादी पार्टी ने अपने ऑफिशियल पेज पर पोस्ट किया, जिसमें उन्होंने मंत्री के बेटे टेनी को बर्खास्त करने की बात की है। सपा का कहना है कि पहले मंत्री टेनी के बेटे ने किसानों को अपनी थार से कुचल कर मार डाला, अब उस हिंसा के मुख्य गवाह पर गोलियां चलाई जा रही है।

टेनी के मंत्री रहते मामले की निष्पक्ष जांच और आरोपी मंत्री पुत्र को सजा और पीड़ित को न्याय संभव नहीं है। ऐसे में सरकार को टेनी को मंत्री पद से बर्खास्त कर देना चाहिए।

लखीमपुर खीरी हिंसा के मुख्य गवाह दिलबाग सिंह पर जानलेवा हमला, सपा ने की टेनी को बर्खास्त करने की मांग
Ayodhya: CM योगी ने रखी मंदिर की आधारशिला, कहा- 3 पीढ़ियों का संघर्ष आज सफल हुआ
Since independence
hindi.sinceindependence.com