रूस- यूक्रेन जंग के बीच सैन्य मदद को लेकर अमेरीका की चीन को चेतावनी

अमेरिकी विदेश मंत्री एंटनी ब्लिंकेन ने गुरुवार को कहा कि अगर चीन रूस को सैन्य सहायता देता है तो अमेरिका दंडित करेगा।
रूस- यूक्रेन जंग के बीच सैन्य मदद को लेकर अमेरीका की चीन को चेतावनी

रूस-यूक्रेन युद्ध

रूस-यूक्रेन युद्ध के बीच चीन पर रूस के साथ सहयोग करने का आरोप लग रहा है. इस बीच अमेरिका ने चीन को धमकी दी है। अमेरिकी विदेश मंत्री एंटनी ब्लिंकेन ने गुरुवार को कहा कि अगर चीन रूस को सैन्य सहायता देता है तो अमेरिका दंडित करेगा।

चीन सैन्य उपकरणों के जरिए रूस की मदद करने की कोशिश कर रहा

ब्लिंकेन ने कहा- यूक्रेन युद्ध में चीन सैन्य उपकरणों के जरिए रूस की मदद करने की कोशिश कर रहा है। ब्लिंकन ने शुक्रवार को होने वाली शी जिनपिंग और बाइडेन वार्ता से पहले यह बात कही। उन्होंने कहा कि रूस का समर्थन करने वाली किसी भी कार्रवाई के लिए चीन जिम्मेदार होगा। अगर चीन ऐसा करता है तो हम कार्रवाई करने से नहीं हिचकेंगे।

चीन को अपने प्रभाव का इस्तेमाल युद्ध रोकने के लिए करना चाहिए

हम सभी देशों से आह्वान करते हैं कि वे रूस को युद्ध समाप्त करने के लिए मजबूर करने के लिए हर संभव तरीके का इस्तेमाल करें। हमारा मानना ​​है कि चीन को अपने प्रभाव का इस्तेमाल युद्ध रोकने के लिए करना चाहिए, लेकिन ऐसा करने की बजाय वह उलटी दिशा में आगे बढ़ रहा है. चीन ने इस संघर्ष में खुद को तटस्थ दिखाने की बहुत कोशिश की है।

चीन और रूस के बीच रणनीतिक संबंधों को लेकर कई तरह की अटकलें

चीन और रूस के बीच रणनीतिक संबंधों को लेकर कई तरह की अटकलें लगाई जा रही हैं। माना जा रहा है कि यूक्रेन पर रूस के हमले के बारे में चीन पहले से ही जानता था। यह युद्ध चीन के लिए जोखिम भरा साबित हो रहा है। ऐसा इसलिए है क्योंकि ऐसा लगता है कि वह तटस्थ होने का नाटक करते हुए रूस के लिए समर्थन बढ़ाने की कोशिश कर रहा है।

चीन ने कहा- रूस पर प्रतिबंध से विकासशील देशों को नुकसान

संयुक्त राष्ट्र में चीन के प्रतिनिधि झांग जून ने पश्चिमी देशों द्वारा रूस पर लगाए जा रहे प्रतिबंधों के बारे में चेतावनी दी। झांग ने गुरुवार को कहा कि सुस्त वैश्विक आर्थिक सुधार के दौरान रूस के खिलाफ प्रतिबंधों का इस्तेमाल एक गलत कदम था। प्रतिबंधों से किसी समस्या का समाधान नहीं होगा, बल्कि नई समस्याएं पैदा होंगी।

लोगों की रोजी-रोटी पर असर पड़ेगा- झांग जून

झांग ने कहा- इससे विकासशील देशों में खाद्य और ऊर्जा संकट बढ़ेगा। इससे लोगों की रोजी-रोटी पर असर पड़ेगा। चीन यूक्रेन में युद्धविराम के वैश्विक समुदाय के लक्ष्य को साझा करता है। हम उम्मीद करते हैं कि सभी पक्ष शांति वार्ता को सुविधाजनक बनाने के लिए और अधिक प्रयास करेंगे, न कि आग में घी डालने के लिए।

<div class="paragraphs"><p>रूस-यूक्रेन युद्ध</p></div>
कृष्ण की नगरी वृंदावन में होली का उत्सव, हजारों लोग पहुंचे, देखिए Video

Related Stories

No stories found.