सीता मैया पर अभद्र बयान: विकास दिव्याकीर्ति को लेकर Twitter पर #BanDrishtiIAS ट्रेंड

यूपीएससी के लोकप्रिय कोचिंग सेंटर दृष्टि के डॉ. विकास दिव्याकीर्ति का एक वीडियो सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रहा है। इसमें वह सीता मैया की तुलना कुत्ते के चाटे हुए घी से करते नजर आ रहे हैं।
सीता मैया पर अभद्र बयान: विकास दिव्याकीर्ति को लेकर Twitter पर #BanDrishtiIAS ट्रेंड

यूपीएससी के लोकप्रिय कोचिंग सेंटर दृष्टि के डॉ. विकास दिव्याकीर्ति का एक वीडियो सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रहा है। इसमें वह सीता मैया की तुलना कुत्ते के चाटे हुए घी से करते नजर आ रहे हैं।

Twitter पर हैशटैग BanDrishtiIAS टॉप ट्रेंड

अब इस क्लिप के वायरल होने के बाद ट्वीटर पर हैशटैग #BanDrishtiIAS टॉप ट्रेंड कर रहा है। ट्विटर यूजर्स दृष्टि एकेडमी को बैन करने की मांग कर रहे हैं। लोगों का कहना है कि भगवान राम और सीता मैया पर डॉ. विकास दिव्यकीर्ति की बेतुकी टिप्पणी से हिंदुओं की भावनाएं आहत हुई हैं।

लोगों को कहना है कि अगर विकास दिव्यकीर्ति के मन में सनातन को लेकर कोई कुंठा नहीं है, तो उनकी सनातन विरोधी घटनाएं बार-बार कैसे सामने आती हैं?

सनातनियों के ट्वीट हर सेकेंड आने चाहिए

साध्वी प्राची ने ट्वीट कर लोगों से अपील की है कि सनातनियों के ट्वीट हर सेकेंड आने चाहिए। हिंदुत्व का अपमान भारत अब और बर्दाश्त नहीं करेगा। इसके बाद से ट्विटर पर #BanDrishtiIAS हैशटैग के साथ प्रतिक्रियाओं की बाढ़ आ गई है।

लोग पूछ रहे हैं, विकास दिव्यकीर्ति जैसे तथाकथित धर्मनिरपेक्ष लोग केवल हिंदू धर्म का अपमान करने का दुस्साहस कहां से इकट्ठा करते हैं? क्या उनमें दूसरे धर्मों के जरिए लोगों के बीच मिसाल कायम करने की हिम्मत नहीं है। क्या उदाहरण के लिए हिंदू देवी-देवताओं के नाम हैं?

कौन है डॉ. विकास दिव्यकीर्ति

डॉ. विकास दिव्यकीर्ति एक शिक्षक और लेखक हैं। वह दृष्टि द विजन नाम से एक कोचिंग सेंटर चलाते हैं, जो पूरी तरह से यूपीएससी की तैयारी के लिए समर्पित है। इसकी स्थापना 1999 में उन्होंने डॉ. तरुना वर्मा के साथ मिलकर की थी। कोचिंग सेंटर शुरू करने से पहले डॉ. विकास दिव्याकीर्ति एक जाने-माने आईएएस अधिकारी थे।

सीता मैया पर अभद्र बयान: विकास दिव्याकीर्ति को लेकर Twitter पर #BanDrishtiIAS ट्रेंड
जम्मू-कश्मीर में आतंकवाद और अलगाववाद का जनक 'जमात-ए-इस्लामी' अब खात्मे की तरफ
Since independence
hindi.sinceindependence.com