पटियाला जेल में क्लर्क बने सिद्धू , 2 शिफ्ट में 5 घंटे करना होगा काम

Navjot Singh Sidhu: नवजोत सिंह सिद्धू (Navjot Singh Sidhu) को जेल में क्लर्क का काम सौंपा गया है। पटियाला सेंट्रल जेल के बयान के अनुसार सिद्धू को दो शिफ्टों में अपना काम करना होगा।
पटियाला जेल में क्लर्क बने सिद्धू , 2 शिफ्ट में 5 घंटे करना होगा काम
Navjot Singh SidhuFile photo

Navjot Singh Sidhu: पंजाब प्रदेश कांग्रेस कमेटी के पूर्व अध्यक्ष नवजोत सिद्धू अब पटियाला (Patiala) सेंट्रल जेल में मुंशी बन गए हैं। पटियाला सेंट्रल जेल की ओर से एक बयान जारी किया गया जिसमें बताया गया कि नवजोत सिंह सिद्धू (Navjot Singh Sidhu) को जेल में क्लर्क का काम सौंपा गया है। सिद्धू की ड्यूटी जेल के दफ्तर के कामकाज की देखरेख में लगाई गई है।

बता दें कि नवजोत सिंह सिद्धू को 34 साल पुराने रोड रेज केस में 1 साल की बामशक्कत कैद हुई है, और इसी दौरान उन्हें सजा को तौर पर जेल में क्लर्क की जिम्मेदारी सौंपी गई है।

मंगलवार से शुरु हुई सिद्धू की ड्यूटी

जानकारी के अनुसार नवजोत सिंह सिद्धू की ड्यूटी मंगलवार से ही शुरू हो चुकी है। पटियाला सेंट्रल जेल के बयान के अनुसार सिद्धू को दो शिफ्टों में अपना काम करना होगा। उनकी पहली पहली शिफ्ट सुबह 9 से दोपहर 12 बजे तक रहेगी, वहीं दूसरी शिफ्ट लंच ब्रेक के बाद दोपहर तीन से शाम पांच बजे तक रहेगी। इस तरह से सिद्धू को कुल मिलाकर दिन में 5 घंटे काम करना होगा।

Navjot Singh Sidhu
UP Budget 2022: सदन में पेश होगा योगी सरकार 2.0 का पहला बजट, सरकार के इन वादों पर होगी जनता की नजर

जेल में सिद्धू को मिल रही स्पेशल डाइट

नवजोत सिंह सिद्धू (Navjot Singh Sidhu)को जेल में मेडिकल ग्राउंड पर भी राहत मिल रही है। स्वास्थ्य का हवाला देते हुए नवजोत सिंह सिद्धू ने जेल में रोटी खाने से इंकार कर दिया था जिसके बाद उनका चेकअप करवाया गया। मेडिकल रिपोर्ट सामने आने के बाद बाद सिद्धू के लिए पटियाला की जेल में स्पेशल डाइट को मंजूरी दे दी गई है।

बता दें कि इससे पहले भी नवजोत सिंह सिद्धू के करीबियों ने जेल में उनकी सुरक्षा को लेकर चिंता जाहिर की थी। लेकिन पटियाला जेल प्रशासन ने साफ कर दिया है कि नवजोत सिंह सिद्धू को जेल में किसी भी तरह का कोई खतरा नहीं है।

Navjot Singh Sidhu
J&K: कुपवाड़ा में 3 आतंकी ढेर, बीते 24 घंटे में सुरक्षा बल ने मार गिराए 6 आतंकवादी

Related Stories

No stories found.
Since independence
hindi.sinceindependence.com