कांग्रेस के पोस्टर में जादूगर का सहायक हाइलाइट, वहीं भाजपा का साफ संदेश चेहरा जरुरी नहीं, विकास पर फोकस

Rajasthan Election 2023 : राजस्थान में चुनावी संग्राम प्रारंभ हो चुका है। कांग्रेस और भाजपा दोनों ही पार्टियों के प्रत्याशियों ने अपने-अपने क्षेत्र में मोर्चा संभाल कर चुनाव जीतन के लिए भरसक प्रयास कर रहे है।
कांग्रेस के पोस्टर में जादूगर का सहायक हाइलाइट, वहीं भाजपा का साफ संदेश चेहरा जरुरी नहीं, विकास पर फोकस
कांग्रेस के पोस्टर में जादूगर का सहायक हाइलाइट, वहीं भाजपा का साफ संदेश चेहरा जरुरी नहीं, विकास पर फोकस

Rajasthan Election 2023: राजस्थान में चुनावी संग्राम प्रारंभ हो चुका है। कांग्रेस और भाजपा दोनों ही पार्टियों के प्रत्याशियों ने अपने-अपने क्षेत्र में मोर्चा संभाल कर चुनाव जीतन के लिए भरसक प्रयास कर रहे है।

आरोप-प्रत्यारोप के जरिए दोनों पार्टियां एक-दूसरे को घेरने में लगी हुई हैं। इसी बीच दोनों पार्टियों के पोस्टर और होर्डिंग जनता के बीच चर्चा का विषय बने गए हैं।

कांग्रेस के नेताओं को मुंगेरी लाल के सपने दिखाने वाले जादूगर

लोगों में चर्चा इस बात की भी है कि कांग्रेस के पोस्टर में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और प्रदेशाध्यक्ष गोविंद डोटासरा के फोटो को ही हाइलाइट किया गया है। इन पोस्टर और होर्डिंग पर लिखा गया है 'कहो दिल से कांग्रेस फिर से।

जिसमें राष्ट्रीय स्तर के नेताओं को पोस्टर में जगह तो मिली, लेकिन उसकी साइज इतनी छोटी है कि दूर से नजर ही नहीं आते। ऐसे में चर्चा यही है कि आखिर राष्ट्रीय अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे और सोनिया गांधी के फोटोज को तवज्जो क्यों नहीं दी गई।

पोस्टर में जादूगर छोटा है तो, सहायक का कद बढ़ गया है। इसे कोई सियासी दांवपेच माने या राजस्थान में वापिस जादुगर अपने सहायक को मुंगेरी लाल के सपने दिखा रहें है, जैसा पहले एक वोट से हारने वाले सीपी जोशी को दिखाया था।

गहलोत वो जादुगर हैं जिसने समय-समय पर आने पर अच्छे-अच्छे कांग्रेसी नेताओं को कबुतर बनाकर पिंजरे में कैद कर दिया है, जिनमें सीकर के विधायक राजेंद्र पारीक भी शामिल है, जो कभी कांग्रेस सरकार में उधोग मंत्री रहे , लेकिन गहलोत के इतने करीब आ गए कि दुबारा कांग्रेस की सरकार आने के बाद कोई छोटा मोटा पद तक नहीं ले पाए, बस सीकर के विधायक बन कर रह गए।

इस बार शायद हाईलाइट हो रहे डोटसरा का नंबर है, जो पोस्टर में तो बड़े दिख रहें है, लेकिन कद में छोटे होने वाले हैं।

भाजपा में पीएम मोदी बड़ा फेस

भाजपा ने इस बार राजस्थान में सीएम का चेहरा घोषित नहीं किया है। कमल का फूल और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के चेहरे पर ही पार्टी चुनाव लड़ रही है।

यही वजह है कि पार्टी के पोस्टर-होर्डिंग में प्रधानंत्री को सबसे आगे दिखाया गया है, जबकि उनके साथ राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा, पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे, प्रदेशाध्यक्ष सीपी जोशी और नेता प्रतिपक्ष राजेंद्र राठौड़ के फोटो भी शामिल किए गए हैं।

टैग लाइन दी है 'खुशहाल राजस्थान बनाएंगे, भाजपा को लाएंगे'। इन पांच फोटोज से यह स्पष्ट नहीं हो पा रहा है कि भाजपा जीतती है तो सीएम का चेहरा कौन होगा।

कांग्रेस के पोस्टर में जादूगर का सहायक हाइलाइट, वहीं भाजपा का साफ संदेश चेहरा जरुरी नहीं, विकास पर फोकस
24 लाख दीपों से जगमग होगी अयोध्या नगरी, CM योगी करेंगे शिरकत