क्या अशोक गहलोत भी करेंगे BJP Join? पहले समर्थक तोड़ रहे रिश्ता, पायलट गुट में कांग्रेस के प्रति वफादारी, अभी तक एक ने भी नहीं बदला पाला

News: अशोक गहलोत के समर्थक ही भाजपा में शामिल क्यों हो रहे हैं। कही इसका मतलब ये तो नहीं अशोक गहलोत की रुचि कांग्रेस में नहीं रही।
क्या अशोक गहलोत भी करेंगे BJP Join? पहले  समर्थक तोड रहे रिश्ता, पायलट गुट में दिख रही कांग्रेस के प्रति वफादारी, अभी तक एक ने भी नहीं नहीं बदला पाला
क्या अशोक गहलोत भी करेंगे BJP Join? पहले समर्थक तोड रहे रिश्ता, पायलट गुट में दिख रही कांग्रेस के प्रति वफादारी, अभी तक एक ने भी नहीं नहीं बदला पाला @Socialmedia

Poltics News: अशोक गहलोत के समर्थक ही भाजपा में शामिल क्यों हो रहे हैं। ये सवाल आपके मन भी आ रहा होगा, अगर आप पॉलिटिक्स में रुची रखते है तो, कही इसका  मतलब ये तो नहीं अशोक गहलोत की रुचि कांग्रेस में नहीं रही, क्या इसका अंदाजा लगाया जा सकता है, निकट भविष्य में गहलोत भी भाजपा में शामिल हो सकते  है।

खैर ये तो आने वाला समय ही बताएगा। लेकिन राजस्थान की राजनीति में उस समय भुचाल आ गया।जब कभी अशोक गहलोत के करीबी माने जाने वाले कांग्रेस के विधायक ने भाजपा की सदस्यता लेने के बाद विधायक पद से इस्तीफा दे दिया। अब वहां उपचुनाव होंगे उसके बाद ही राजनैतिक स्थिती साफ हो पाएगी।

हांलाकि ऐसी खबर सामने आ रही है कि गहलोत के साथ जुडे कुछ नेता भाजपा से जुड़ने की Line में शामिल है।

राजस्थान की राजनीति में आदिवासी क्षेत्र के दिग्गज नेता महेंद्रजीत सिंह मालवीय के भाजपा में शामिल होने के बाद पूर्व मंत्री लालचंद कटारिया, रिछपाल मिर्धा, रामलाल जाट, रतन देवासी आदि कांग्रेस नेताओं के भाजपा में शामिल होने की चर्चा है, यह सभी नेता पूर्व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के समर्थक रह चुके हैं।

क्या अशोक गहलोत भी करेंगे BJP Join?
क्या अशोक गहलोत भी करेंगे BJP Join?@Socialmedia

क्या अब अशोक गहलोत की कांग्रेस में रुचि नहीं रही?

आपको बता दें  गहलोत ने CM रहते हुए सत्ता की मलाई सबसे ज्यादा इन्हीं नेताओं को चटाई है। महेंद्रजीत सिंह मालवीय को मंत्री बनाने के साथ- साथ कांग्रेस की राष्ट्रीय कार्यसमिति का सदस्य भी बनाया।

इतना ही नहीं मालवीय की पत्नी रेशमा देवी को बांसवाड़ा का जिला प्रमुख भी बनाया गया। यहां ये सवाल उठता है कि आखिर गहलोत के समर्थक ही भाजपा में शामिल क्यों हो रहे हैं? वह भी तब जब लोकसभा चुनाव के मद्देनजर कांग्रेस को मजबूत किए जाने की सख्त जरूरत है।

गत विधानसभा के चुनावों में राजस्थान के 25 संसदीय क्षेत्रों में 11 में कांग्रेस को ज्यादा वोट मिले थे। इसलिए BJP ने इन 11 संसदीय क्षेत्रों में लोकसभा चुनाव जीतने के लिए विशेष फोकस किया है, इसके मद्देनजर मालवीय को भाजपा में शामिल करवाया गया।

आदिवासी क्षेत्र के बांसवाड़ा-डूंगरपुर और जालौर-सिरोही संसदीय क्षेत्रों में मालवीय का खास प्रभाव है। भाजपा ने इन दोनों संसदीय क्षेत्रों में मालवीय के दम पर अपनी स्थिति को मजबूत कर लिया है।

सूत्रों की मानें तो पूर्व सीएम गहलोत चाहते तो मालवीय को भाजपा में जाने से रोक सकते थे, लेकिन गहलोत ने मालवीय को रोकने में कोई रुचि नहीं दिखाई। ।

क्या अशोक गहलोत भी करेंगे BJP Join?
क्या अशोक गहलोत भी करेंगे BJP Join?@Socialmedia

क्यों गहलोत ने अपने समर्थकों को खुला छोड़ दिया

गहलोत के रुचि न दिखाने के कारण ही लालचंद कटारिया, रिछपाल मिर्धा, रामलाल जाट, रतनदेवासी जैसे दिग्गज कांग्रेसी की भी BJP में शामिल होने की संभावना जताई जा रही है। आपको बता दें कि 2020 के सियासी संकट में ये सभी नेता गहलोत के समर्थक थे।

इतना ही नहीं 25 सितंबर 2022 को इन नेताओं ने गहलोत के समर्थन में विधायक पद से इस्तीफा भी दिया था।

कहा जा सकता है कि इन नेताओं को कांग्रेस में मजबूत शामिल करने के लिए गहलोत ने कोई कसर नहीं छोड़ी, लेकिन अब गहलोत ने इन नेताओं को खुला छोड़ दिया है।

सूत्रों के अनुसार कांग्रेस हाईकमान ने गहलोत को अभी तक भी संगठन में कोई दायित्व नहीं दिया है। इस वजह से गहलोत नाराज बताए जाते हैं। यही वजह है कि गहलोत ने अपने समर्थकों को खुली छुट दे रखी है।

क्या अशोक गहलोत भी करेंगे BJP Join?
क्या अशोक गहलोत भी करेंगे BJP Join?@Socialmedia

गहलोत समर्थक कई नेता होंगे BJP में शामिल

जिन कांग्रेस नेताओं ने गहलोत के शासन में सबसे ज्यादा सरकार का फायदा उठाया अब वे ही भाजपा में शामिल होने को उतावले हो रहे हैं।

ये नेता सरकार में रहते हुए भी गहलोत को ही अपना नेता मानते थे। शांति धारीवाल ने तो मंत्री रहते हुए सार्वजनिक तौर पर कहा था कि उनके लिए अशोक गहलोत ही हाईकमान है।

यह बात अलग है कि गहलोत ने जिन सचिन पायलट को गद्दार धोखेबाज और मक्कर कहा उन

पायलट का एक भी समर्थक कांग्रेस नहीं छोड़ रहा है। पायलट के समर्थक विधायक और नेता अभी भी पूरी तरह कांग्रेस के साथ खड़े हैं।

सूत्रों के अनुसार यदि कांग्रेस हाईकमान ने अशोक गहलोत को राजनीतिक दृष्टि से संतुष्ट नहीं किया तो आने वाले दिनों में गहलोत समर्थक कई नेता भाजपा में शामिल हो जाएंगे।

क्या अशोक गहलोत भी करेंगे BJP Join? पहले  समर्थक तोड रहे रिश्ता, पायलट गुट में दिख रही कांग्रेस के प्रति वफादारी, अभी तक एक ने भी नहीं नहीं बदला पाला
मंदिर को अगर दान-चढ़ावे में मिले ₹1 करोड़ तो सरकार को देना होगा ₹10 लाख: कर्नाटक में Congress सरकार ने किया जजीया TAX वाला बिल पास, BJP ने पूछा- निशाने पर सिर्फ हिंदू धर्म क्यों?

Related Stories

No stories found.
logo
Since independence
hindi.sinceindependence.com