Bihar News: पूजा पंडाल से घर लौट रही नाबालिग को 4 युवकों ने बनाया हवस का शिकार

बिहार के सीतामढ़ी में दुर्गा पूजा पंडाल से पूजा कर घर लौट रही एक नाबालिग के साथ सामूहिक दुष्कर्म किया गया। घटना 29 सितंबर गुरुवार देर शाम रूनीसैदपुर थाना क्षेत्र के एक गांव की है। पुलिस ने इस मामले में दो आरोपियों को गिरफ्तार किया है।
Bihar News: पूजा पंडाल से घर लौट रही नाबालिग को 4 युवकों ने बनाया हवस का शिकार

देश में लड़कियो के साथ हैवानियत की घटनाएं रुकने का नाम नहीं ले रही है। मानवता को शर्मसार करने वाला मामला अब बिहार से सामने आया है। जहां पर एक लड़की दुर्गा पांडाल से वापस लौट रही थी।

लड़की को अकेली पाकर चार लोगों ने उसे अपनी हवस का शिकार बनाया। इसके बाद दयनीय स्थिति में लड़की घर पहुची और परिवार वालों के इस संबध में बताया। पुलिस ने इस मामले में दो आरोपीयों को गिरफ्तार कर लिया है और दो आरोपीयो की तलाश जारी है।

सीतामढ़ी में दुर्गा पूजा पंडाल से पूजा कर घर लौट रही एक नाबालिग के साथ सामूहिक दुष्कर्म किया गया। घटना गुरुवार देर शाम रूनीसैदपुर थाना क्षेत्र के एक गांव की है। पुलिस ने इस मामले में दो आरोपियों को गिरफ्तार किया है।

पूजा पंडाल से पूजा-अर्चना कर घर लौट रही थी नाबालिग

परिजनों के मुताबिक गुरुवार की देर शाम नाबालिग बच्ची पूजा पंडाल से पूजा-अर्चना कर घर लौट रही थी। इसी दौरान रास्ते में दो बाइक पर सवार चार युवकों ने नाबालिग को जबरन उठा लिया।

इसके बाद सभी ने उसके साथ सामूहिक दुष्कर्म की घटना को अंजाम दिया। देर रात युवती दयनीय हालत में घर पहुंची। नाबालिग ने परिवार को घटना की जानकारी दी। इसके बाद शुक्रवार शाम लड़की के पिता की ओर से सीतामढ़ी के महिला थाने में FIR दर्ज कराई गई।

चार आरोपियों में से दो को पकड़

पुलिस ने इस मामले में कार्रवाई करते हुए दो आरोपितों को गिरफ्तार किया है। आरोपियों की पहचान मुजफ्फरपुर के औराई थाना क्षेत्र के बेदुल गांव निवासी प्रिंस कुमार और सीतामढ़ी के रुन्नीसैदपुर थाना क्षेत्र के रूपौली के रणविजय कुमार के रूप में हुई है।

इस संबंध में एसएचओ विजय कुमार यादव ने बताया कि चारों आरोपियों में से दो को पकड़ लिया गया है। अन्य की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी की जा रही है।

Bihar News: पूजा पंडाल से घर लौट रही नाबालिग को 4 युवकों ने बनाया हवस का शिकार
BIHAR: सम्राट अशोक के शिलालेख पर बन गई मजार, मूक-बधिर बनी नीतीश सरकार
Since independence
hindi.sinceindependence.com