सपा MLA इरफान ने लेटरपैड पर लिखकर दिया 'भारतीय'; अब उसी पर पाकिस्तानी जासूस होने का शक

रविवार को कानपुर में पकड़े गए बांग्लादेशी डॉ. रिजवान और उनके परिवार का पाकिस्तानी कनेक्शन सामने आया है। पुलिस ने बताया कि विधायक इरफान सोलंकी और पार्षद मन्नू रहमान ने अपने लेटर पैड पर लिख दिया कि डॉ. रिजवान और उनका परिवार भारतीय है।
सपा MLA इरफान ने लेटरपैड पर लिखकर दिया 'भारतीय'; अब उसी पर पाकिस्तानी जासूस होने का शक

रविवार को कानपुर में पकड़े गए बांग्लादेशी डॉ. रिजवान और उनके परिवार का पाकिस्तानी कनेक्शन सामने आया है। रिजवान के फर्जी पासपोर्ट पर तीन बार पाकिस्तान जाने के सबूत मिले हैं। उसके पास से बरामद लैपटॉप में भारत-पाकिस्तान से जुड़े संदिग्ध दस्तावेज मिले हैं।

पाकिस्तानी जासूस होने का शक

ज्वाइंट पुलिस कमिश्नर आनंद प्रकाश तिवारी ने बताया कि रिजवान पर पाकिस्तानी जासूस होने का शक है। एटीएस, एनआईए और मिलिट्री इंटेलिजेंस समेत अन्य सुरक्षा एजेंसियों को डॉ. रिजवान से जुड़े इनपुट्स दिए गए हैं। सुरक्षा एजेंसियां पूरे मामले की जांच में जुट गई हैं।

विधायक इरफान सोलंकी और पार्षद मन्नू रहमान ने अपने लेटर पैड पर लिख दिया कि डॉ. रिजवान और उनका परिवार भारतीय है।
विधायक इरफान सोलंकी और पार्षद मन्नू रहमान ने अपने लेटर पैड पर लिख दिया कि डॉ. रिजवान और उनका परिवार भारतीय है।

जालसाजी से पूरे परिवार की नागरिकता और पासपोर्ट

संयुक्त पुलिस आयुक्त आनंद प्रकाश तिवारी ने बताया कि बांग्लादेशी डॉ. रिजवान शहर के पॉश इलाके आर्य नगर के इंपीरियल रेजिडेंसी में अपने परिवार के साथ रहता था। पुलिस को कुछ इनपुट मिले थे। इस पड़ताल के बाद पता चला कि डॉ. रिजवान ही नहीं उनकी पत्नी हिना, ससुर खालिद, बेटी रुखसार और 17 साल का नाबालिग बेटा भी उनके साथ हैं। सभी के पास फर्जी दस्तावेज हैं।

डॉ. रिजवान
डॉ. रिजवान

2016 से फर्जी दस्तावेज बनाकर भारत में रह रहा परिवार

बांग्लादेश से कानपुर में छिपा डॉ. रिजवान 2016 से फर्जी दस्तावेज बनाकर भारत में रह रहा है। उनके ससुर खालिद मजीद और उनकी बेटी हिना के पास भारतीय नागरिकता है। लेकिन इन सभी ने फर्जी दस्तावेजों का इस्तेमाल करने से पहले बांग्लादेश से पासपोर्ट बनवाया है।

इसके बाद कानपुर में रहने के दौरान ससुर खालिद ने मूलगंज मैदा मार्केट स्थित घर में दामाद रिजवान, बेटी हिना और पोते का आधार कार्ड, पासपोर्ट व अन्य दस्तावेज फर्जी दस्तावेजों के आधार पर बनवा लिए. इन सभी के पास कानपुर और बांग्लादेश दोनों देशों के पहचान पत्र और पासपोर्ट मिले हैं।

पाकिस्तानी कनेक्शन, कई विदेशी दौरे

ज्वाइंट पुलिस कमिश्नर ने बताया कि डॉ रिजवान तीन बार पाकिस्तान जा चुका है। उन्होंने परिवार के साथ कई बार गुप्त रूप से बांग्लादेश और भारत की यात्रा की। साथ ही फर्जी पासपोर्ट के सहारे थाईलैंड और नेपाल भी गया। उनके पासपोर्ट की जांच करने पर इसकी पुष्टि हुई है। उसके पास से बरामद लैपटॉप में भारत और पाकिस्तान से जुड़े कई अहम दस्तावेजों की फाइल मिली है। पुलिस को शक है कि यह पाकिस्तानी जासूस भी हो सकता है।

सपा विधायक इरफान के करीबी हैं बांग्लादेशी रिजवान?

सपा विधायक इरफान सोलंकी और बांग्लादेशी डॉ. रिजवान के बीच कैसे संबंध थे? इरफ़ान तक कैसे पहुंचे रिजवान? इरफान अपने लेटर पैड से बार-बार चिट्ठियां बनाता था कि वह भारतीय मूल का है और आर्यनगर का रहने वाला है। इरफान से जुड़े ऐसे कई सवालों पर पुलिस अभी तक कोई जवाब नहीं दे पाई है। संयुक्त पुलिस आयुक्त का कहना है कि अभी जांच चल रही है।

सबूत मिले तो विधायक और पार्षद का भी नाम बढ़ेगा

पुलिस ने बताया कि विधायक इरफान सोलंकी और पार्षद मन्नू रहमान ने आधार कार्ड, पासपोर्ट, फर्जी जन्म प्रमाण पत्र और अन्य फर्जी दस्तावेज बनवाते समय हर बार अपने लेटर पैड पर लिख दिया कि डॉ. रिजवान और उनका परिवार भारतीय है।

वह मूल रूप से भारत के रहने वाले हैं। अब पुलिस डॉ. रिजवान और सपा विधायक इरफान के बीच संबंधों की जांच कर रही है। जांच में आरोप सही पाए जाने पर विधायक का नाम भी एफआईआर में जोड़ा जाएगा।

विधायक की लिखावट और हस्ताक्षर की जांच की जाएगी

जांच के दौरान बरामद इरफान सोलंकी और पार्षद मन्नू रहमान के पत्रों को फॉरेंसिक टीम ने अपने कब्जे में ले लिया है. दोनों की हैंडराइटिंग और सिग्नेचर मैच करने के लिए हैंडराइटिंग एक्सपर्ट की मदद ली जा रही है।

अगर जांच में लिखावट और हस्ताक्षर का मिलान सही हुआ तो तय है कि विधायक और पार्षद का नाम भी एफआईआर में बढ़ेगा। इतना ही नहीं विधायक और पार्षद की मदद से आधार कार्ड और पासपोर्ट सहित अन्य दस्तावेज भी फर्जी दस्तावेजों से बनवा लिए।

सपा MLA इरफान ने लेटरपैड पर लिखकर दिया 'भारतीय'; अब उसी पर पाकिस्तानी जासूस होने का शक
Twitter: फिर से शुरू हो रहा Blue Paid Service; जानें क्या है Elon Musk की योजना
logo
Since independence
hindi.sinceindependence.com