बच्चों के सामने महिलाओं से रेप, ना कहा तो जीभ काटी‚ UN में छलका जेलेंस्की का दर्द, कहा- कोई रास्ता नहीं तो यूएन को बंद कर दीजिए

Zelensky speech in United Nations: संयुक्त राष्ट्र में बहुत ही भावनात्मक और चुनौतीपूर्ण तरीके से यूक्रेन के राष्ट्रपति ज़ेलेंस्की ने कहा कि संयुक्त राष्ट्र को अपनी मौजूदगी बनाए रखने के लिए तत्काल कार्रवाई करनी चाहिए। उन्होंने संयुक्त राष्ट्र को रूसी सैनिकों की यातना और हत्याओं के वीडियो भी दिखाए।
बच्चों के सामने महिलाओं से रेप, ना कहा तो  जीभ काटी‚ UN में छलका जेलेंस्की का दर्द, कहा- कोई रास्ता नहीं तो यूएन को बंद कर दीजिए
Photo |twitter

यूक्रेन के राष्ट्रपति वलोडिमिर ज़ेलेंस्की ने संयुक्त राष्ट्र में (Zelensky speech in United Nations) मंगलवार को संयुक्त राष्ट्र को ही आड़े हाथों लिया। ज़ेलेंस्की ने संयुक्त राष्ट्र से या तो तुरंत कार्रवाई करने या खुद को पूरी तरह से भंग करने का आह्वान किया। संयुक्त राष्ट्र में बहुत ही भावनात्मक और चुनौतीपूर्ण तरीके से यूक्रेन के राष्ट्रपति ज़ेलेंस्की ने कहा कि संयुक्त राष्ट्र को अपनी मौजूदगी बनाए रखने के लिए तत्काल कार्रवाई करनी चाहिए। उन्होंने संयुक्त राष्ट्र को रूसी सैनिकों की यातना और हत्याओं के वीडियो भी दिखाए। वहीं, बुका में रूसी सैनिकों की हरकतों की इस्लामिक स्टेट से तुलना करते हुए इसे आतंकवादी कृत्य बताते हुए वैश्विक समुदाय से तत्काल कार्रवाई करने की अपील की।

सुरक्षा परिषद का उद्देश्य अंतरराष्ट्रीय शांति और सुरक्षा बनाए रखना है तो मूकदर्शक क्यों बना बैठा है

संयुक्त राष्ट्र को अपने संबोधन में, (Zelensky speech in United Nations) ज़ेलेंस्की ने संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद को संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के कर्तव्यों की भी याद दिलाई, जिसमें यूक्रेन के लोगों पर अत्याचार और हत्याओं का जिक्र था। उन्होंने कहा कि परिषद का उद्देश्य अंतरराष्ट्रीय शांति और सुरक्षा सुनिश्चित करना है। लेकिन रूस के मामले में वह कोई फैसला नहीं ले पा रहे हैं। मुझे समझ नहीं आ रहा कि ये परिषद अब तक मूकदर्शक बन क्यों देख रही है।

रूस के पास पांच सदस्यों जैसा वीटो, लेकिन वो इस का दुर्पयोग कर रहा

रूस वीटो रखने वाले सुरक्षा परिषद के पांच स्थायी सदस्यों में से एक है। ज़ेलेंस्की ने आरोप लगाया कि रूस ने ग्लोबल प्लेटफॉर्म पर प्रस्तावों और बातचीत को अवरुद्ध करने के लिए बार-बार वीटो का गलत इस्तेमाल कर रहा है।
संयुक्त राष्ट्र को क्यों न बंद कर दिया जाए?
यूक्रेन के राष्ट्रपति ने कहा कि यदि कोई विकल्प नहीं है तो अगला विकल्प खुद को पूरी तरह से भंग करने का होना चाहिए। (Zelensky to UN-Act immediately or dissolve it) संयुक्त राष्ट्र को बस बंद किया जा सकता है। ज़ेलेंस्की ने कहा कि क्या आप संयुक्त राष्ट्र को बंद करने के लिए तैयार हैं? क्योंकि अंतरराष्ट्रीय कानून का समय चला गया है? यदि आपका उत्तर नहीं में है, तो आपको तुरंत कार्रवाई करने की जरूरत है।

युद्ध के दौरान रूसी सैनिकों के कूकर्म के बारे में बताया

बढ़ी हुई दाढ़ी और अपनी सैन्य ट्रेडमार्क टी शर्ट पहने हुए ज़ेलेंस्की ने रूसियों के कूकर्मों के बारे में भी यूएन को बताया। जेलेंस्की ने यूक्रेन की राजधानी कीव के बाहर बुका शहर में नागरिकों के खिलाफ रूसी सैनिकों द्वारा किए गए अत्याचारों के बारे में बताते हुए एक वीडियो भी दिखाया। जेलेंस्की ने बताया कि बच्चों और महिलाओं को भी नहीं बख्शा गया। वे अपने अपार्टमेंट, घरों में मर गए। हैंड ग्रेनेड फेंके गए। सड़क के बीचोंबीच अपनी कारों में बैठे लोग टैंकों से नागरिक कुचले गए। रूसी सैनिको ने लोगों के अंगों को काट दिया... उनका गला काट दिया गया।
महिलाओं के बच्चों के सामने उनका रेप किया गया, फिर उनकी हत्या कर दी गई
ज़ेलेंस्की ने बताया कि महिलाओं के साथ बलात्कार और उनके बच्चों के सामने हत्या कर दी गई, उनकी जीभ मात्र इसलिए काट दी गई क्योंकि हमलावरों ने महिलाओं से वो नहीं सुना जो वे उनसे सुनना चाहते थे... तो ये आईएसआईएस जैसे अन्य आतंकवादियों से अलग नहीं है, इन्होंने ऐसा काम किया जिसके हिंसा शब्द भी छोटा लगता है।
बच्चों के सामने महिलाओं से रेप, ना कहा तो  जीभ काटी‚ UN में छलका जेलेंस्की का दर्द, कहा- कोई रास्ता नहीं तो यूएन को बंद कर दीजिए
कोटा के Deva Gurjar का स्टाइल: 2 पत्नियों को साथ लेकर घूमता था हिस्ट्रीशीटर, पत्नियां भी खुशी से रखती थी करवाचौथ का व्रत

रूस ने ज़ेलेंस्की के आरोपों को नकारा

संयुक्त राष्ट्र में मास्को के राजदूत वसीली नेबेंजिया ने मंगलवार को सुरक्षा परिषद में एक भाषण में यूक्रेन में रूसी सैनिकों के अत्याचार के आरोपों को खारिज करते हुए कहा कि गवाहों के पास कोई सबूत नहीं है। वसीली नेबेंजिया ने कहा कि रूसी सेना के खिलाफ निराधार आरोप लगाए जा रहे हैं, जिसकी पुष्टि किसी भी प्रत्यक्षदर्शी ने नहीं की है।
बता दें कि वैश्विक संकट के बाद संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंटोनियो गुटेरेस ने यह बैठक बुलाई थी। उन्होंने इस युद्ध को तत्काल समाप्त करने पर जोर दिया और सभी से अपना पक्ष रखने को कहा। गुटेरेस ने कहा कि युद्ध से 74 देशों में 1.2 अरब लोग प्रभावित हुए हैं। संघर्ष के परिणामस्वरूप खाद्य, ऊर्जा और उर्वरक की बढ़ती कीमतों से वैश्विक गिरावट दर्ज की जा रही है।

Related Stories

No stories found.