गुर्जर समाज छोड़ेगा पायलट को, आएगा भाजपा के साथ, बनेगी भाजपा सरकार? | Rajasthan Election 2023

Rajasthan Election 2023: राजस्थान विधानसभा चुनाव को लेकर सियासी गर्मियां तेज हो चुकी है। चुनाव लड़ने के लिए सभी पार्टियों ने कमर कस ली है, लेकिन ये देखना दिलचस्प होगा कि इस बार गुर्जर समाज को किसका वोट मिलेगा और कौन होगा राजस्थान की गद्दी का दावेदार।
गुर्जर समाज छोड़ेगा पायलट को, आएगा भाजपा के साथ
गुर्जर समाज छोड़ेगा पायलट को, आएगा भाजपा के साथ

Rajasthan Election 2023: राजस्थान विधानसभा चुनाव को लेकर सियासी सरगर्मियां तेज हो चुकी है। बीजेपी ने 41 सीटों पर अपने उम्मीदवार उतार दिये है, तो वहीं कांग्रेस ने अभी तक अपने उम्मीदवारों की घोषणा नहीं की है।

बीजेपी ने अपने उम्मीदवारों की लिस्ट जारी करने के साथ ही सीएम पद का चेहरा गुप्त रखा है, लेकिन ऐसे कयास लगाए जा रहे हैं कि दीया कुमारी, राज्यवर्धन सिंह राठौर या फिर वसुंधरा राजे में से किसी एक को मुख्यमंत्री पद के लिए उतारा जाएगा। वहीं इस बार बीजेपी वापस से अपनी पुरानी गलती को दोहराने से बचेगी।

राजपूतों ने नहीं दिया भाजपा का साथ

BJP
BJP

2018 के विधानसभा चुनाव में बीजेपी को हार का सामना करना पड़ा था। राजपूतों ने राजे का समर्थन नहीं किया था। इसकी वजह से भाजपा चुनाव में अपनी साख नहीं बचा पायी थी, तो दूसरी तरफ गुर्जरों ने सचिन पायलट को मुख्यमंत्री बनाने के लिए पूरे दमखम से सत्ता के द्वार खोल दिये थे औऱ कांग्रेस की झोली में गुर्जर समाज की 39 में से 35 सीटें आयी थी। इस बार सियासी रणनीतिकारों की खास निगाहें पूर्वी राजस्थान पर टिकी हुई है।

अमित शाह संभाल रहें पूर्वी राजस्थान की कमान

Amit Shah
Amit Shah

राजस्थान के मेवाड़ से सत्ता का नया द्वार खुलता देख केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह यहां की कंमान संभाल रहे हैं। आपको बता दें कि पिछली बार पूर्वी राजस्थान से भाजपा को सिर्फ तीन सीटें ही मिल पायी थी जिसमें अलवर से 2 सीटें तो वहीं धौलपुर से 1 सीट मिली थी। इन तीन सीटों की वजह से पूर्वी राजस्थान में बीजेपी अपनी साख बचाने में सफल हो पायी थी।

पायलट को मिला गुर्जरों का साथ

Sachin Pilot
Sachin Pilot

2018 के विधानसभा चुनाव में गुर्जर समाज ने पूरी सत्ता पलट दी थी। सचिन पायलट को मुख्यमंत्री बनाने के लिए गुर्जर समाज के लोगों ने जमकर मतदान किया। इसी के साथ ही 35 सीटों पर कांग्रेस ने जीत दर्ज की थी। 11 विधानसभा सीटों पर 8 गुर्जर प्रत्याशी ने जीत हासिल की, तो वहीं दूसरी ओर बीजेपी के 7 गुर्जर प्रत्याशियों को करारी हार का सामना करना पड़ा।

गुर्जर समाज छोड़ेगा पायलट को, आएगा भाजपा के साथ
Rajasthan Election 2023: नेता प्रतिपक्ष राजेद्र राठौड़ ने कहा- गहलोत मुख्यमंत्री नहीं बल्कि घोषणा मंत्री हैं